वरिष्ठ नागरिकों के स्वास्थ्य सेवा के लिए स्वतंत्र स्वास्थ कक्ष की मांग


SHARE

नगरसेवकों ने मांग की है कि मुंबई के वरिष्ठ नागरिकों को उनकी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए मुफ्त स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराई जानी चाहिए, भले ही उन्हें बीएमसी अस्पतालों में स्वास्थ्य उपचार के लिए छूट दी जा रही हो। ऐसा माना जाता है कि अगर एक अलग स्वास्थ्य कक्ष स्थापित किया जाता है, तो वरिष्ठ और बुजुर्ग लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं को कुछ राहत प्रदान की जाएगी।

यह भी पढ़े- एसटी बसों के किराए में वृद्धि को फिलहाल मंजूरी नहीं।

शिवसेना के नगरसेवक दत्ता नरवणकर ने मांग की है की मुंबई शहर और उपनगरों में वरिष्ठ नागरिकों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। बुजुर्ग होने के कारण डिमेंशिया, पक्षाघात और कई अन्य बीमारियों से ग्रसित हो जाती है। उन्होंने कहा कि ऐसी बीमारी में कई बार बुजुर्गो को अपने परीवारवालों का साथ नहीं मिल पाता है।

यह भी पढ़े- ईद के मौके पर बेस्ट की अतिरिक्त बसें

वरिष्ठ नागरिकों और बुजुर्गो को मुफ्त स्वास्थ्य देखभाल और बीएमसी में विभिन्न स्वास्थ्य जांच में छूट मिलती है। इसलिए, अधिकांश वरिष्ठ नागरिक बीएमसी अस्पताल में इलाज के लिए जाते हैं। लेकिन बढ़ती संख्या के आधार पर हर बुजुर्ग को सही इलाज दे पाना बीएमसी अस्पलातों के लिए आसान नहीं होता।
नरवणकर ने कहा की बुजुर्गो को अच्छी स्वास्थ सेवाएं मिल सके इसके लिए बीएमसी को अस्पतालों में विशेष और स्वतंत्र सुविधा दी जानी चाहिए जिसके उन्हे और भी अच्छा इलाज मिल सके।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें