• वडाला लॉयड्स इस्टेट इमारत हादसा: जिम्मेदार  बिल्डर को गिरफ्तार करो, स्थानीय लोगों ने किया आंदोलन
  • वडाला लॉयड्स इस्टेट इमारत हादसा: जिम्मेदार  बिल्डर को गिरफ्तार करो, स्थानीय लोगों ने किया आंदोलन
  • वडाला लॉयड्स इस्टेट इमारत हादसा: जिम्मेदार  बिल्डर को गिरफ्तार करो, स्थानीय लोगों ने किया आंदोलन
SHARE

वडाला लॉयड्स इस्टेट इमारत हादसा, बिल्डर ,गिरफ्तार, आंदोलन, बीएमसी

वडाला के लॉयड्स इस्टेट की पार्किंग धंसने के बाद बुधवार को बिल्डिंग में रहने वाले लोगों ने बीएमसी के खिलाफ आंदोलन किया। निवासियों का कहना था कि इस हादसे के जिम्मेदार दोस्ती बिल्डर के दीपक गरोडिया, किसन गरोडिया और राजेश शाह को तत्काल गिरफ्तार किया जाए, अगर उनकी मांगे नहीं मानी जाती है तो वे और भी तीव्र आंदोलन करेंगे।


यह भी पढ़ें: वडाला में इमारत की दीवार गिरी, कई गाड़ियों को पहुंचा नुकसान


क्या हुआ था?
आपको बता दें कि सोमवार 25 जून को तड़के वडाला के लॉयड्स इस्टेट की पार्किंग दीवार अपने आप ही धंस गयी। इसके ठीक बगल ही दोस्ती बिल्डर निर्माण कार्य करवा रहा था जिसके तहत बड बड़ा गड्ढा खोदा गया था, उसी गड्ढे में बिल्डिंग की 10 से 12 गाड़ियां चली गयीं। हालांकि इस हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई। बिल्डिंग के कई लोगों ने अपना घर खाली कर दिया है।
 
लोकल बॉडी की लापरवाही आई सामने
स्थानीय लोगों का आरोप है कि उनकी बिल्डिंग लाइड्स इस्टेट के सामने ही  दोस्ती बिल्डर 50 मंजिला बिल्डिंग बना रह है। इस बिल्डिगं का फाउंडेशन कार्य के लिए बहुत बड़ा गड्ढा खोदा गया था।  गड्ढा खोदते समय बिल्डिंग के लोगों ने आपत्ति भी दर्ज कराई साथ ही एंटॉप हिल पुलिस और बीएमसी से भी शिकायत की लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। जिसके परिणामस्वरूप यह हादसा घटित हो गया।

निर्माण कार्य पर लगी रोक
दुर्घटना के बाद आसपास की बिल्डिंगों लॉइड्स इस्टेट, दोस्ती ब्लॉस्म, कारनेशन, डिफोडिल्स के सोसायटी मैनेजरों और बीएमसी के अधिकारियों के बीच बैठक हुई. बीएमसी ने दोस्ती बिल्डर को निर्माण कार्य संबंधी जितने भी मंजूरी दिए थे सारे रद्द कर दिये। साथ ही बीएमसी ने यह भी निर्णय लिया है कि जब तक बिल्डिंगों पर मंडरा रहा खतरा टल नहीं जाता तब तक निर्माण कार्य पर रोक लगी रहेगी।



दोस्ती बिल्डर को निर्माण कार्य संबंधी जितने भी मंजूरी दी गयी थी सब रद्द हों। जब तक हमारी मांगे नहीं मानी जाएंगी तब तक आंदोलन शुरू रहेगा। यह बिल्डिंग अभी भी सुरक्षित नहीं है। मुझे आश्चर्य है कि इतनी बड़ी घटना हो गयी और बीएमसी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।
- भालचंद्र मुणगेकर, पूर्व सांसद, कांग्रेस


यह भी पढ़ें: वडाला दीवार हादसा- संजय निरुपम का आरोप,मलबे में दबे हो सकते है मजदूरों के शव!

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें