आरोही पंडीत बनी अकेले उड़ान भरकर दो महासागर पार करनेवाली पहली महिला

अटलांटिक महासागर और प्रशांत महासागर पार करनेवाली आरोही दुनियां की पहली महिला बन गई है

SHARE

मुंबई की महिला पायलट आरोही पंडीत ने मई महीने में  अटलांटिक महासागर पार कर एक नया किर्तीमान रचा था।  इस मुकाम को हासिल कर उन्होने साबित कर दिया था की महिलाएं भी दुनिया के किसी भी कार्य को कर सकती है।  अब उनके खाते में एक किर्तीमान का नाम जुड़ गया है।  आरोही ने इस बार अकेले उड़ान भरकर प्रशांत महासागर पार किया है। दो महासागर पार करनेवाली वो दुनियां की इकलौती महिला बन गई है।  

आरोही की उम्र सिर्फ 23 साल

आरोही पंडित ने भारत का परचम लहराने के लिए अलास्का से उड़ान भरी प्रशांत महासागर के बेरिंग सागर पार कर रूस पहुंची। लैंड करने के बाद उन्होंने गर्व के साथ उन्होने तिरंगे के साथ फोटो भी खिंचाई। आरोही की उम्र सिर्फ 23 साल है और इतनी सी छोटी उम्र में ही उन्होने इतना बड़ा इतिहास रच दिया है। उन्होंने हल्के स्पोर्ट एयरक्राफ्ट 'माही' से प्रशांत महासागर के ऊपर उड़ान भर।

बुरे से बुरे मौसम में सागर के ऊपर उड़ान भरी

आरोही मुंबई के बोरीवली के आई सी कॉलनी इलाके में रहती है।  इस कारनामे को पूरा करने के लिए आरोही ने  7 महीने की कड़ी ट्रेनिंग ली थी। अपनी ट्रेनिंग के दौरान वे बुरे से बुरे मौसम में सागर के ऊपर उड़ान भरी थी।अब तक, आरोही ने अपने छोटे एलएसए में 20 देशों में 29,500 किलोमीटर की दूरी तय की है।

यह भी पढ़े- कैप्टन आरोही पंडित लाइट स्पोटर्स एयरक्राफ्ट में अटलांटिक महासागर को अकेली पार करनेवाली पहली महिला

संबंधित विषय