छोटी सी उम्र में ही कजरी ने झेला है जहां भर का दर्द

कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया है कि कजरी को उसके मां-बाप तक पहुंचाया जाए, लेकिन अब 24 साल की हो चुकी कजरी को उसके मां-बाप का चेहरा तक याद नहीं है। कजरी के मां-बाप को ढूंढना पुलिस के लिए किसी टेढ़ी खीर से कम नहीं है।

SHARE

कजरी (नाम बदला हुआ) जब 7 साल की थी तो, एक दिन पड़ोस के बच्चों के साथ खेल रही थीं तभी किसी ने उसे अगवा कर लिया। जब वह बड़ी हो गयी तो उसे वेश्यावृत्ति में धकेल दिया गया। 21 साल की उम्र में वह किसी तरह से दलालों के चंगुल से भाग निकली और नजदीकी ओशिवारा पुलिस स्टेशन पहुंच कर अपनी आपबीती सुनाई। पुलिस ने उसकी सूचना के आधार पर 8 लोगों को गिरफ्तार किया। कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया है कि कजरी को उसके मां-बाप तक पहुंचाया जाए, लेकिन अब 24 साल की हो चुकी कजरी को उसके मां-बाप का चेहरा तक याद नहीं है। कजरी के मां-बाप को ढूंढना पुलिस के लिए किसी टेढ़ी खीर से कम नहीं है।

क्या है मामला?
कजरी के अपहरण के बाद उसे दिल्ली ले जाया गया, जहां उसे रूबी ठाकुर नामकी एक महिला दलाल ने खरीद लिया। कजरी से वहां घर का सारा काम करवाया जाता था, उसे मारा पीटा भी जाता था। कुछ समय बाद रूबी के घर वालों के साथ कजरी मुंबई के कांदिवली आ गयी।

यहां उसे एक छोटे से कमरे में 10 लड़कियों के साथ रखा जाता था। ये सभी लड़कियां बार गर्ल थीं जो विभिन्न बारों में डांस करती थीं। अब कजरी 11 साल की हो चुकी थीं। एक दिन रूबी कजरी को लेकर अंधेरी लोखंडवाला गयी और वहां एक आदमी के साथ उसे लेकर रहने लगी। कजरी वहां भी तीन साल तक रही। जब कजरी 14 साल की हो गयी तो उस पर भी बार में डांस करने के लिए सांताक्रूज भेज दिया गया।

बार का वातावरण और रंग रूप देख कर जब कजरी वहां जाने से मना करती तो रूबी उसे प्रताड़ित करती। यही नहीं अब रूबी दबाव डाल कर कजरी को अन्य व्यक्तियों के साथ संबंध बनाने का भी दबाव डालने लगी।लेकिन बकरे की मां कब तक खैर मनाती, कजरी को देह व्यापार में धकेल दिया गया। जहां हर दिन उसके जिस्म का सौदा होता था।

यही नहीं साल 2009 और 10 में उसे इसी काम के लिए विदेश भी भेजा गया था। इसी तरह से काम करते करते उसकी पहचान एक अन्य लड़की के साथ हुई। दोनों जल्द ही अच्छे दोस्त बन गये। कजरी ने उस लड़की को अपनी सारी आपबीती सुनाई और इस चंगुल ने निकलने में उसकी मदद मांगी। वह लड़की कजरी को ओशिवारा पुलिस लेकर आई, और रूबी के खिलाफ कजरी की शिकायत दर्ज कराई।

इस मामले में पुलिस ने रूबी सहित 8 लोगों को गिरफ्तार किया। मामला कोर्ट में जाने के बाद कोर्ट ने कजरी को उसके मां-बाप के पास सौपने का आदेश पुलिस को दिया। तब से लेकर अब तक पुलिस कजरी के मां-बाप की तलाश में है। इस मामले में पुलिस ने 8 लोगों का डीएनए चेक भी किया लेकिन वह डीएनए कजरी के डीएनए से मैच नहीं हुआ। अब इस मामले की छानबीन पुलिस की विशेष महिला विभाग कर रही है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें