नाइक ने ईडी के आरोप को बताया झूठ, कहा- 'मेरे कई आय के स्रोत हैं'

इसके पहले ईडी ने नाइक की संपत्तियों को भी अटैच कर चुकी है. और उसके दो सहयोगियों आमिर गजदार और नजामुद्दीन साथक को गिरफ्तार कर चुकी है।

SHARE

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पर झूठा बयान देने का आरोप लगाया है।नाइक ने ईडी के बयान को झूठ बताते हुए कहा कि, ईडी झूठ बोल रहा है, जबकि मेरे पास पास कई प्रकार के उद्यम और आय के स्रोत हैं और मैंने हमेशा टैक्स भरा है।

नाइक ने इस मामले को राजनीती से प्रेरित बताते हुए कहा कि, ईडी पर दबाव है वह अपने 'राजनीतिक आकाओं’ के लिए झूठ बोल रही है। नाइक के अनुसार सभी सरकारी एजेंसियों भी यह जानती हैं कि मेरे कई बिजनस और आय के स्रोत हैं और मेरी आमदनी हमेशा मेरे द्वारा भरे गए टैक्स रिटर्न में दिखी है।'

आपको बता दें कि अभी एक दिन पहले ही ईडी ने नाइक पर धनशोधन का आरोप लगाते हुए विशेष पीएमएलए अदालत के न्यायाधीश एमएस आजमी के समक्ष आरोप-पत्र दाखिल किया था। ईडी के आरोप-पत्र के अनुसार, इस्लामिक उपदेशक नाइक आय के ‘ज्ञात स्रोत’ की जानकारी नहीं होने के बावजूद 6 साल में अपने भारतीय बैंक खातों में 49.20 करोड़ रुपये स्थानांतरित करने में कामयाब हुआ है।

आपको बता दें कि इसके पहले ईडी ने नाइक की संपत्तियों को भी अटैच कर चुकी है. और उसके दो सहयोगियों आमिर गजदार और नजामुद्दीन साथक को गिरफ्तार कर चुकी है।

गौरतलब है कि गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) के तहत राष्ट्रीय जांच एजेंसी की प्राथमिकी के आधार पर ईडी ने साल 2016 में नाइक के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें