SHARE

एक नए राजनीतिक घटनाक्रम के तहत अभिनेता और कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा समाजवादी पार्टी (एसपी) में शामिल हो गई हैं। और अब वे लखनऊ से चुनाव लड़ने जा रहीं हैं। उनके सामने बीजेपी के उम्मीदवार और गृहमंत्री राजनाथ सिंह होंगे। अब एसपी के नेता रविदास मेहरोत्रा ने कांग्रेस से यह अपील की है कि वह लखनऊ से अपना उम्‍मीदवार ना उतारे ताकि बीजेपी को हराया जा सके। आपको बता दें कि पूनम सिन्‍हा 18 अप्रैल को अपना नामांकन पत्र भरेंगी।

पूनम सिन्हा ने एसपी के मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी  डिंपल यादव की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। हालांकि राजनीतिक गलियारों में यह खबर काफी पहले से आ रही थीं कि पूनम सिन्हा एसपी में शामिल होने जा रहीं हैं और उन्हें लखनऊ से टिकट दिया जा सकता है इस पर केवल मुहर लगना बाकी था जो अब जाकर लगा है। 

अब लखनऊ की लड़ाई काफी रोचक हो गयी है। पूनम के पति अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा अभी हाल ही में बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हैं। तो अब देखने वाली बात हो गई कि क्या कांग्रेस पूनम को समर्थन दे सकती है।

राजनीतिक जानकारों की मानें तो पूनम सिन्हा को लखनऊ से लड़ाने की एक खास वजह भी यह थी कि लखनऊ में लखनऊ में कायस्थ मतदाताओं की संख्या तीन से साढ़े तीन लाख के आसपास है और सवा लाख के करीब सिंधी वोटर हैं, जबकि पूनम सिन्हा खुद एक सिंधी भी है। अगर जातीय समीकरण ठीक से फिट हो जाता है तो राजनाथ सिंह को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। 

लखनऊ से मौजूदा सासंद और बीजेपी उम्मीदवार राजनाथ ने मंगलवार को ही नामांकन दाखिल किया है। अभी तक उनके खिलाफ कांग्रेस और बसपा-एसपी की तरफ से कोई उम्मीदवार नहीं उतारा गया था, लेकिन पूनम के नाम की घोषण करके एसपी-बसपा गठबंधन ने एक मजबूत दावेदार पेश किया है।

पिछली बार राजनाथ सिंह ने यहां काफी बंपर वोटों से जीत दर्ज की थी. उन्हें 54.28 फीसदी वोट मिले थे। तो इनकी लोकप्रियता को देखते हुए पूनम के लिए लड़ाई आसान नहीं होगी। लेकिन एक बात और सामने आती है कि पिछली बार मोदी लहर थी जो इस बार कमजोर पड़ चुकी है।

पढ़ें: शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी लखनऊ से सपा की टिकट पर लड़ सकती हैं चुनाव?

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें