Advertisement

अमृता फडणवीस के 'मुंबई सेफ नहीं' वाले ट्वीट पर शिव सेना और एनसीपी ने दिया जवाब

अमृता फडणवीस (amrita fadnavis) के 'मुंबई सेफ नहीं' वाले ट्वीट पर शिव सेना (shiv sena) और एनसीपी (NCP) ने पलटवार करते हुए कहा कि अमृता फडणवीस उसी पुलिस बल की आलोचना कर रही हैं, जो उनकी सुरक्षा करती है।

अमृता फडणवीस के 'मुंबई सेफ नहीं' वाले ट्वीट पर शिव सेना और एनसीपी ने दिया जवाब
SHARES

विधानसभा में विपक्ष के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (devendra fadnavis) की पत्नी अमृता फडणवीस (amrita fadnavis) के 'मुंबई सेफ नहीं' वाले ट्वीट पर शिव सेना (shiv sena) और एनसीपी (NCP) ने पलटवार करते हुए कहा कि अमृता फडणवीस उसी पुलिस बल की आलोचना कर रही हैं, जो उनकी सुरक्षा करती है।

इसके पहले अमृता फडणवीस (amrita fadnavis) ने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (sushant singh rajput suicide case) में सरकार और मुंबई पुलिस (mumbai police) पर निशाना साधा और ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘‘जिस तरह से सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में व्यवहार किया जा रहा है, मुझे लगता है कि मुंबई ने मानवता खो दी है और वह भोले भाले, स्वाभिमानी नागरिकों के जीने के लिए अब सुरक्षित नहीं है।''

अमृता फडणवीस को घेरते हुए शिव सेना की राज्यसभा सदस्य प्रियंका चतुर्वेदी (priyanka chaturvedi) ने ट्विटर पर लिखा कि, ‘'मुंबई पुलिस की सुरक्षा में कार से चारों ओर घूमिये। मैं मुंबई पुलिस पर आरोप लगाने वाले और उसे बदनाम करने वाले इन भाजपा के नेताओं और उनके परिवार वालों को चुनौती देती हूं कि वे अपनी पुलिस सुरक्षा को छोड़ कर निजी एजेंसियों की सुरक्षा ले लें जो उन्हें शहर में सुरक्षित महसूस करा सकें। पूर्व मुख्यमंत्री, गृहमंत्री भी थे, उनकी पत्नी का इस तरह से बोलना शर्मनाक है।'

तो वहीं दूसरी ओर एनसीपी प्रवक्ता अदिति नलावड़े (NCP spokesperson aditi nalawade) ने भी अमृता पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीटर पर अमृता की एक पुरानी तस्वीर शेयर की। इस तस्वीर में अमृता फडणवीस एक क्रूज़ जहाज में किनारे पर बैठी दिखाई दे रही हैं।नलावड़े ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि जब वह एक क्रूज जहाज पर किनारे पर खतरनाक तरीके से बैठी थीं, तो वह मुंबई पुलिस का जवान था जो उनकी सुरक्षा कर रहा था।''

यही नहीं नलावड़े ने इसके साथ ही अमृता पर यह भी आरोप लगाया कि, अमृता फडणवीस की रुचि केवल उस निजी बैंक में पुलिस का वेतन खाता खोलने में थी, जहां वह काम करती थीं।

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement