SHARE

नाम जोशी मार्ग, नायगांव और वर्ली बीडीडी चॉल का पुर्नविकास म्हाडा ने शुरु किया है। नाम जोशी मार्ग और नायगांव में रहनेवाले लोगों को एक अस्थाई कैंप में ठहराया गया है, हालांकी की कुछ लोगों ने इस अस्थाई शिबिरों में जाने से इंकार कर दिया है। लेकिन इन अस्थाई शिबिरों की स्थिती देखकर लोगों की जान की सुरक्षा पर भी सवाल खड़ा किया जा रहा है।

 इमारत क्रमांक 12 में हुआ हादसा

दरअसल गुरुवार की शाम नाम जोशी मार्ग के इमारत क्रमांक 12 में ग्राउंड फ्लोर पर स्लैब का एक हिस्सा गिर गया। इस हादसे में कोई घायल तो नहीं हुआ लेकिन लोगों की सुरक्षा पर सवाल तो खड़ा हो ही गया है। बताया जा रहा है की इमारत 95 साल पूरानी थी।

बीडीडी चॉल के पुर्नविकास को लेकर राजनिती जोरों से शुरु है , जिसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। बीडीडी चाल पुनर्विकास समनव्य समिती के अध्यक्ष कृष्णकांत नलगे का कहना है की उन्होने कई बार प्रशासन को नये घरो में भेजने की बात कही लेकिन अभी तक इस मुद्दे पर कोई भी प्रतिसाद नहीं आया है।

यह भी पढ़े-  महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का 10 सितंबर को भारत बंद का आह्वान

यह भी पढ़े- कांग्रेस नेता संजय निरुपम की मांग, RK स्टूडियों की जगह फिल्म म्युजियम बनाए सरकार!

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें