SHARE

मुंबई सहित देशभर में लगातार बढ़ते तेल के दामों के लेकर अब आम जनता में गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है। डीजल के दामों में हो रही लगातार बढ़ोत्तरी को देखते हुए अब वाहन चालको ने भी हड़ताल की धमकी दी है। 'अखिल भारतीय मोटर परिवहन कांग्रेस' ने मंगलवार को सरकार की चेतावनी दी की अगर डीजल के दाम कम नहीं होते है तो उन्हे इसके खिलाफ सड़को पर उतरना पड़ेगा।


फिलहाल पेट्रोल और डीजल पर 22 से 23 फिसदी तक एक्साइज ड्युटी वसूला जाता है। इसके साथ ही अन्य खर्च मिलाकर यह टैक्स रकम 43 फिसदी तक हो जाता है। डीजल के बढ़ते दामों का सीधा असर वाहन चालको के जेब पर हो रहा है, जिसके कारण अब उनका खर्चा भी निकलना मुश्किल हो गया है।

इस बारे में आॅल इंडिया मोटर ट्रान्सपोर्ट कांग्रेस के अध्यक्ष बाल मलकीत सिंह का कहना है की डीजल के बढ़ते दामों का असर धीरे धीरे उद्योगो पर हो रहा है। वाहनों चालको की कुल कमाई का 65 फिसदी हिस्सा डीजल पर खर्च होता है। जिसके कारण डीजल के दामों में हो रहे बढ़ोत्तरी के कारण अब उनका मुनाफा भी कम होने लगा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें