बीएमसी में मैन्ग्रोव्ज आच्छादित जमीनों को खरीदने का प्रस्ताव

 Dahisar
बीएमसी में मैन्ग्रोव्ज आच्छादित जमीनों को खरीदने का प्रस्ताव

बीएमसी द्वारा बनाये गये मुंबई के नए विकास योजना के तहत मैन्ग्रोव्ज से आरक्षित जमीन को उनके मालिक से अब बीएमसी खरीदेगी। इसके लिए 31 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। दहिसर गाव में स्थित एक भूखंड को बीएमसी खरीद रही है, यह जमीन प्राथमिक स्कूल, प्ले ग्राउंड और मैन्ग्रोव्ज से आरक्षित है। यही नहीं इस भूखंड में बीएमसी कुछ भी निर्माण नहीं कर सकती। अब देखना है कि इस प्लान को लेकर बीएमसी की सुधर समिति क्या रुख अपनाती है।

6 अप्रैल को सुधार समिति ने कहा कि यह जमीन सीआरजेड 1 में है। जिसके अनुसार मैन्ग्रोव्ज आरक्षित जमीन को वन घोषित किया गया है। इस जमीन में स्कूल और खेल का मैदान आरक्षित होने से इसका सम्पूर्ण उपयोग भी बीएमसी नहीं कर पाएगी। परिणामस्वरुप जमीन के बदले उसके मालिक को जो मुआवजा दिया जाएगा वह उचित तरह खर्च नहीं होगा। सहायक अभियंता एसवी आरविकर ने कहा कि 31 करोड़ रूपये खर्च करने के बाद जमीन को कब्जे में लेकर मैदान और स्कूल के लिए कुछ उपयोग नहो हो पायेगा। शिवसेना की नगरसेवक किशोरी पेडणेकर ने पूछा कि इन जमीनों को खाली कर इन पर क्या बस्तियां बसाई जा सकती हैं? साथ ही उन्होंने कहा कि स्कूल और खेल के मैदान भी जरुरी हैं। सुधर समिति के अध्यक्ष बाला नर ने इस संदर्भ में सभी सदस्यों की भूमिका ध्यान में रख कर योग्य निर्णय लेने की बात कही।

Loading Comments