Advertisement

ऊंची-ऊंची इमारतों और आलीशान बंगले में फैल रहा है कोरोना


ऊंची-ऊंची इमारतों और आलीशान बंगले में फैल रहा है कोरोना
SHARES

समय-समय की बात है, एक समय जिन ऊंची-ऊंची इमारतों और आलीशान बंगले में रहने वाले लोगों को कोरोना वायरस (Coronavirus) से सुरक्षित समझा जाता था अब वहां भी कोरोना (Covid-19) ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिया है। अब ऐसे इलाकों में कोरोनोवायरस (Voronavirus) के बढ़ते मामलों में वृद्धि होती जा रही है। वर्तमान में बोरीवली, कांदिवली, दहिसर और मलाड के पॉश इलाकों में कोरोना (Covid-19) को फैलने से रोकने के लिए बीएमसी ने इन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने का निर्णय लिया है।

BMC के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश ककानी (BMC additional commissioner suresh kahani) ने नागरिक निकाय को इस तरह के भवनों पर ध्यान देने को कहा है। स्थिति को भांपने के लिए उन्होंने पश्चिमी उपनगरों का दौरा भी किया। इसलिए बीएमसी कर्मचारी विभिन्न हाउसिंग सोसाइटी की हाउसिंग कमेटी के साथ नियमित रूप से बैठकें कर रहे हैं ताकि उन विभिन्न तरीकों पर चर्चा की जा सके और उन पर अमल किया जा सके जिनमें कोरोना वायरस का प्रसार शामिल हो सकता है। इन इलाकों में BMC द्वारा बुखार की जांच और एंटीजन टेस्ट को भी आयोजित किया जा रहा है ताकि रोग को फैलने से रोका जा सके।

बीएमसी ने इससे पहले नेपियंसी रोड पर स्थित टैनर हाइट्स के 136 फ्लैट्स और परिसरों को कोरोना मरीज मिलने के बाद सील कर दिया था। इस इलाके के 19 घरों में COVID -19 के सकारात्मक मरीज पाए गए थे। चूंकि मुंबई केे झुग्गी झोपड़ो (slum areas in mumbai) में कोरोना मामले में कमी को देखते हुए अब वहां के लोगों ने राहत की सांस ली है।

इसके पहले 18 मई को बीएमसी ने यह निर्णय लिया था कि अब जिस बिल्डिंग में कोरोना के मरीज पाए जाएंगे उस बिल्डिंग के फ्लोर को सील किया जाएगा, पहले बिल्डिंग को ही सील कर दिया जाता था। पूरी बिल्डिंग को सील करने के बाद वहां के रहने वाले सभी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता था।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में इस समय COVID-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 2,54,427 तक हो गयी है।

संबंधित विषय
Advertisement