हिंदमाता में अब नहीं भरेगा पानी

 Mumbai
हिंदमाता में अब नहीं भरेगा पानी

मुंबई में बारिश के दौरान ऐसे कई इलाके है जहां हल्की सी भी बारिश होने के कारण पानी बर जाता है। मुंबई का हिंदमाता इलाका , कुछ ऐसे ही इलाको में से एक है जहां हल्की सी भी बारिश होने पर पानी भर जाता है। बीएमसी इन इलाको में पानी निकालने के लिए पम्पिंग स्टेशन का भी सहारा लेती है लेकिन इन इलाको में पानी भरना कम नहीं होता। लेकिन अब बीएमसी ने इस समस्या से निपटने के लिए एक कड़ा कदम उठाने का फैसला लिया है।

बीएमसी हिंदमाता इलाके में 13 करोड़ रुपये खर्चकर ब्रिटिश-काल की नालियों को बदलने जा रही है। इस कार्य के बाद इस इलाके में जलभराव की समस्या खत्म हो जाएगी। फिलहाल इन नलियों की छमता 25 मिमी है जो बीएमसी के इस फैसले के बाद 50मिमी हो जाएगा। बीएमसी के अधिकारियों के मुताबिक इस कार्य को पूरा होने के लिए 12 से 14 महिनों का समय लगेगा।

इसके साथ ही बीएमसी भायखल्ला , मुंबई सेंट्रल, करी रोड, एलफिन्स्टन, महालक्ष्मी और वर्ली जैसे इलाको में भी ब्रिटिश-युग के नालियों को बदलने की योजना बना रही है।

क्या कहना है मुंबई लाइव का
मॉनसून के दौरान, ब्रिटानिया पम्पिंग स्टेशन के पास संकीर्ण पानी के आउटलेट के कारण हिंदमाता इलाके में पानी भर जाता है। नालियों की जगह और पानी के आउटलेट को चौड़ा करने के बीएमसी ने पहले पंपिंग स्टेशन का सहारा लिया और अब वह नालियों को चौड़ा करने की बात कर रही है , जिससे टैक्स पेयर का काफी पैसा नूकसान होता है।

Loading Comments