कोस्टल रोड के भूमिगत टनल के लिए आपदा प्रबंधन योजना बनाएगी बीएमसी

भूमिगत टनल में वेंटिलेशन सिस्टम, आपातकालीन भागने के मार्ग और एक सुरक्षित कमरा होगा।

SHARE

बीएमसी अक्टूबर से कोस्टल रोड परियोजना पर काम करना शुरू कर देगी, जिसे पिछले हफ्ते मंजूरी दे दी गई थी, जहां कोस्टल रोड के पहले चरण (दक्षिणी भाग) का निर्माण शुरू हो जाएगा। इस परियोजना में, दो स्वतंत्र सुरंग, दक्षिण मुंबई के गिरगांव चौपाटी क्षेत्र से नीचे 20-25 मीटर और मालाबार हिल के नीचे 70-75 मीटर तैयार किये जाएंगे।

120 से अधिक वर्षों तक टनल करेगा काम

बीएमसी अधिकारियों का कहना है की भूमिगत सुरंगों में वेंटिलेशन सिस्टम, आपातकालीन भागने के मार्ग और एक सुरक्षित कमरा होगा। अधिकारियों के अनुसार, आपात स्थिति के मामले में, आग से बचने के लिए लोगों को सुरक्षित कमरे में ले जाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित सुरंग भूकंप प्रतिरोधी होंगे और 120 से अधिक वर्षों ये टनल चल सकते है।

9.9 किमी कोस्टल रोड मरिन ड्राइव को बांद्रा-वरली सागर लिंक (बीडब्लूएसएल) के दक्षिणी छोर पर जोड़ती है जिसमें 6.8 किमी अंडरसी सुरंग शामिल होगी, जो प्रिंस स्ट्रीट फ्लाईओवर के पास प्रियदर्शिनी पार्क के पास मरिन ड्राइव तक होगी।


यह भी पढ़े- मुंबई के दो लॉ कॉलेजों को बार काउंसिल ने भेजा नोटिस

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें