Advertisement

विदेश से आने वाले नागरिकों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में रहने से मिली छूट

लेकिन यात्रियों को अभी भी अपने घर पर 7 दिनों के लिए अलग रहना होगा। इन यात्रियों को एक प्रमाण पत्र दिखाना होगा कि उन्होंने कोविड टेस्ट पास कर लिया है।

विदेश से आने वाले नागरिकों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में रहने से मिली छूट
SHARES


विदेश से मुंबई आने वाले यात्रियों को बड़ी छूट दी गई है। अब इन यात्रियों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में नहीं रहना होगा। हालांकि, इन यात्रियों को अपना सीडब्ल्यूआईडी परीक्षण प्रमाण पत्र दिखाना होगा। अगर उनकी कोविड टेस्ट निगेटिव आती है, तो उन्हें इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में रहने से छूट दी जाएगी।

विदेशों से आने वाले अधिकांश नागरिक जरूरी काम से भारत वापस आ रहे हैं। क्वारंटीन वाले नियमों के कारण उन्हें कठिनाइ का सामना करना पड़ रहा है। जिसके बाद प्रशासन की तरह से यह निर्णय लिया गया है।

इससे पहले, विदेशों से आने वाले यात्रियों को 7 दिनों के लिए इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन पर रहना पड़ता था। लेकिन अब इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन  में ढील दी गई है। 

लेकिन यात्रियों को अभी भी अपने घर पर 7 दिनों के लिए अलग रहना होगा।  इन यात्रियों को एक प्रमाण पत्र दिखाना होगा कि उन्होंने कोविड टेस्ट पास कर लिया है। इस टेस्ट को 96 घंटे पहले पूरा करना आवश्यक है।

 आज, राज्य में 10 लाख 25 हजार 660 लोग घर में संगरोध में हैं।  36,450 संस्थागत संगरोध हैं।  राज्य में कुल 1 लाख 49 हजार 798 सक्रिय मरीज हैं।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय