मुंबई में बनेगा बौद्ध सर्किट , पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा


SHARE

महाराष्ट्र सरकार राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए में एक बौद्ध सर्किट विकसित करने जा रहा है, जिसका केंद्रबिंदु होगा गोराई का ग्लोबल विपासना पगोडा। मुंबई के अन्य बौद्ध ठिकाने इस योजना में शामिल होंगे। लक्ष्य है आध्यात्मिकता में रुचि रखने वाले पर्यटकों को आकृष्ट करना। इस सर्किट का विकास महाराष्ट्र पर्यटन विकास महामंडल की ओर से किया जाएगा।


यह भी पढ़े- करोड़पति हीरा व्यापारी ने छोड़ी दुनियादारी, मोक्ष प्राप्ति के लिए बनेंगे जैन भिक्षु

मुंबई एलिफेंटा, मंडपेश्वर व कन्हेरी जैसी गुफाओं के रूप में मुंबई अपनी प्राचीन बौद्ध विरासत पर गर्व कर सकता है। आधुनिक स्मारकों के रूप में उसके पास चैत्यभूमि, राजगृह, सिद्धार्थ कॉलेज जैसे संस्थान और ग्लोबल विपासना पैगोडा जैसे सांस्कृतिक-आध्यात्मिक स्थान हैं और बाबासाहेब आंबेडकर का भव्य स्मारक बनने वाला है। जिसे ध्यान में रखते हुए महाराष्ट्र सरकार इस परियोजना के लिए एक प्लान भी तैयार करने जा रही है।

यह भी पढ़े- पाकिस्तानी लड़की की कहानी ने जीता मुंबईकरों का दिल

विश्व में लगभग 54 करोड़ अनुयायियों के साथ आज बौद्ध धर्म दुनिया का चौथा सबसे बड़ा धर्म है। आज चीन, जापान, श्रीलंका, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया एवं उत्तर कोरिया समेत कुल 18 देशों में बौद्ध धर्म प्रमुख धर्म है। पर, भारत में बौद्ध धर्म के लोगों की कुल जनसंख्या केवल 84 लाख है, इनमें से भी 87 प्रतिशत नव बौद्ध हैं

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें