26 जुलाई 2005 की बाढ़ को 14 साल

24 घंटों में 944 मिमी बारिश हुई थी दर्ज

SHARE

26 जुलाई 2005 को मुंबई में आई जोरदार बारिश और फिर बाढ़ को 14 साल हो गए है। जोरदार बारिश और समुद्र में हाईटाइड होने के कारण मुंबी पूरी तरह से जलमग्न हो गई थी। लोगों को समझ नही आ रहा था ऐसे हालात में क्या किया जाए। सांताक्रूज़ में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) स्टेशन ने जुलाई को सुबह 8:30 बजे समाप्त होने वाले 24 घंटों में 944 मिमी दर्ज बारिश दर्ज की।  

रुक गई मुंबई 

बारिश ने इस कदम कहर ढाया था की कभी ना रुकनेवाली मुंबई उस दिन रुक सी गई थी।   1985 के बाद से सबसे ज्यादा बारिश 26 जुलाई, 2005 को हुई ।  पहली बार छत्रपति शिवाजी इंटरनेशनल एयरपोर्ट और जुहू एयरोड्रम रनवे 30 घंटे से ज्यादा बंद रहे।  देशभर के कई एटीएम ने काम करना बंद कर दिया।   5 मिलियन मोबाइल और 2.3 मिलियन MTNL लैंडलाइन उपयोगकर्ता चार घंटे से भी अधिक समय तक प्रभावित रहे, 52 लोकल ट्रेनें क्षतिग्रस्त हो गई, 37,000 ऑटोरिक्शा खराब हो गई 900 बेस्ट बसें क्षतिग्रस्त हो गई। 

आज भी मुंबई में जलभराव की समस्या

26 जुलाई की बाढ़ को भले ही 14 साल हो गए हो लेकिन आज भी मुंबई में थोड़ी देर के लिए भी बारिश शुरु हो तो कई इलाको में जलभराव हो जाता है। हिंदमाता , मिलन सबवे सायन सर्कल कई ऐसे इलाके है जहां आज भी कुछ घंटो की बारिश में ही जलभराव हो जाता है। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें