लवाटे दंपत्ति ने इच्छामृत्यू की राष्ट्रपति को दी याचिका


SHARE

हम लोग अक्सर भगवान के सामने अपने सुख और शांती के लिए दुआ मांगते है लेकिन मुंबई की एक दंपत्ति ने पिछलें कई सालों से अपनी इच्छा मृत्यू के मांग कर रहा है। नारायण लवाटे और इरावती लवाटे ने अपनी इच्छामृत्यू की मांग की है। 86 साल के नारायण लवाटे और 79 साल के इरावती लवाटे ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को इस बाबत एक पत्र भी लिखा है।


फिर से लौटेगा Orkut, इस बार 'हैलो' के नाम से !


राष्ट्रपति को लिखे इस पत्र में लवाटे दंपत्ति ने अपने लिए इच्छामृत्यू की मांग की है। पिछलें 30 सालों से वो इस मांग कर रहे है की इच्छामृत्यू के लिए कानून हो। लवाटे दंपत्ति का कहना है की उनके पास लड़का या फिर लड़की कोई नहीं है , इसलिए वो अपनी जिंदगी साथ बिताने के बाद अब अपनी मौत भी एक साथ चाहते है।


करना था इच्छामृत्यु , डॉक्टरों ने दिया जीवनदान !


लवाटे परिवार का इतिहास

नारायण लवाटे एसटी में अकाउंट विभाग में कार्य करते थे। इरावती लाटे गिरगांव के आर्यन हाई स्कूल में एक शिक्षिका थी। दोनों अब गिरगांक के ठाकूरद्वार इलाके में रहते है। दोनों की इच्छा है की पूरी जिंदगी एक साथ बिताने के बाद अब वह अपनी मौत भी एक साथ चाहते है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें