बीएमसी के अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में भी अब कम हो रही छात्रों की संख्या

मराठी माध्यम में छात्रों की संख्या कम होने के कारण सरकार ने कई मराठी स्कूल पहले ही बंद कर दिये है।

SHARE

जहां एक ओर राज्य सरकार और बीएमसी द्वारा चलाए जा रहे मराठी स्कूलों में छात्रों की संख्या कम होने के कारण सरकार ने कई मराठी स्कूल पहले ही बंद कर दिये है तो वही दूसरी ओर बीएमसी के अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में भी अब छात्रों की संख्या कम होती जा रहा है। , अंग्रेजी माध्यमिक विद्यालय में छोड़ने की दर में भी वृद्धि देखी गई है। पिछले दस वर्षों में, बीएमसी द्वारा संचालित मुंबई पब्लिक स्कूल (एमपीएस) में छात्रों की संख्या में तीन गुना बढ़ोत्तरी हुई है।

बीएमसी में 51 अंग्रेजी माध्यमिक विद्यालय

बीएमसी के शिक्षा विभाग के पास उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, 2017-18 शैक्षणिक वर्ष के दौरान एमपीएस में छात्रों की संख्या 30, 9 42 थी। हालांकि, 2008-09 के दौरान स्कूल शुरू होने पर छात्रों की संख्या 9,550 ही थी शहर भर में 64 एमपीएस हैं।एमपीएस के अलावा, बीएमसी में 51 अंग्रेजी माध्यमिक विद्यालय भी हैं, जिनमें लगभग 34,031 छात्र रजिस्टर है। 2016-17 में बीएमसी के अंग्रेजी माध्यम स्कूल में कुल पंजीकरण छआत्र 35,080 थे जबकि 2017-18 यह घटकर 34,031 हो गये।

दरअसल कई छात्रों ने मराठी, उर्दू, तेलुगू माध्यम से अंग्रेजी माध्यम में एडमिशन लिया था, लेकिन भाषा में हो रही कठिनाईयों के कारण कई छात्रों ने फिर से अपने पूराने स्कूल में प्रवेश ले लिया।

यह भी पढ़ेरात 10 बजे के बाद पटाखे फोड़ने पर पुलिस ने की कार्रवाई

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें