पीने के अलावा अलग काम के लिए अलग पानी

 Raj Bhavan
पीने के अलावा अलग काम के लिए अलग पानी

पीने के अतिरिक्त अन्य कार्यों के लिए पानी स्वतंत्र पाइप के द्वारा वितरित किया जाए, इस मांग को लेकर बीएमसी ने निर्णय लिया है कि पुनर्प्रक्रिया किए हुए पानी के वितरण के लिए अलग से पानी कनेक्शन दिया जाएगा। इसकी शुरुआत राजभवन की जा रही है। बाणगंगा सांडपानी प्रकिया केंद्र से स्वतंत्र पाइप के जरिये पीने के अलावा अन्य कार्यों के लिए हर रोज 3 लाख लीटर पानी राजभवन में दिया जाता है।

‘डी’ विभाग के बाणगंगा सांडपाणी प्रक्रीया केंद्र से राजभवन तक पुनर्प्रक्रिया किया हुआ पानी सप्लाई करने के लिए 150 मि.मी मोटे पाइप का उपयोग किया जाता है। सबसे पहले राजभवन से ही यह मांग की गयी थी कि पीने के अलावा अन्य काम के लिए पुनर्प्रक्रिया किया हुआ पानी वितरित किया जाये। इसके बाद बीएमसी ने बाणगंगा सांडपानी प्रक्रीया केंद्र से 830 मीटर लंबा पाइप लगाया गया। इस कार्य के लिए 67 लाख रूपये का बजट रखा गया है।

इस बाबत उपायुक्त रमेश बांबले का कहना है कि राजभवन की ही तर्ज पर अब मुंबई पुनर्प्रक्रिया किया हुआ पानी ही वितरित करने का काम पहली बार हो रहा है आगे बड़े-बड़े होटल और कंपनी भी ऐसी मांग करते हैं तो उन्हें भी पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रक्रिया किया हुआ पानी का ही उपयोग करेंगी कंपनी

रेसकोर्स और वेलिंग्टन क्लब में प्रक्रिया किया हुआ पानी ही उपयोग में लाया जाता है। यहां पम्पिंग के द्वारा ही पानी दिया जाता है। लेकिन घाटकोपर पम्पिंग स्टेशन में प्रक्रिया नहीं किया हुआ मल का पानी ही प्रक्रिया कर उसे अन्य कामो के लिए उपयोग में लाती है।

Loading Comments