मौत के साये में रहने को मजबूर लोग, बीएमसी और इमारत मालिक नहीं कर रहे कार्रवाई

बोरिवली के कपिल कुंज इमारत की हालत काफी जर्जर हो गई है। दीवारों पर दरार पड़ गई है। बावजूद इसके इस इमारत में रहनेवाले लोग अभी भी इस मौत की इमारत में रहने के लिए मजबूर है।

  • मौत के साये में रहने को मजबूर लोग, बीएमसी और इमारत मालिक नहीं कर रहे कार्रवाई
SHARE

मुंबई में कई ऐसी जर्जर इमारते है जहां अभी भी लोग मौत के साये में  जिंदगी बिताने के लिए मजबूर है और इसकी सबसे बड़ी वजह है उनके पास कोई दूसरा आशियाना ना होना। बोरिवली के कपिल कुंज इमारत में रहनेवाले लोग भी कुछ इसी हालात के मारे है।  इमारत की हालत काफी जर्जर हो गई है। दीवारों पर दरार पड़ गई है, घरों के अंदर दरारे दिखने लगी है, बावजूद इसके इस इमारत में रहनेवाले लोग अभी भी इस मौत की इमारत में रहने के लिए मजबूर है।

मालिक और बीएमसी पर कोई असर नहीं 

इमारत में रहनेवाले लोगों ने कई बार इमारत के मालिक लक्ष्मी इंफ़्रा के योगेश शाह से जर्जर इमारत की मरम्मत करने की मांग की लेकिन इमारत के मालिक ने अभी तक उनकी एक नहीं सुनी है।  लोगों ने बीएमसी को भी इसकी शिकायत की , लेकिन बीएमसी हर बार सिर्फ इमारत के मालिक को नोटिस देकर अपना पल्ला झाड़ लेती है।  इमारत में रहनेवाले लोगों का कहना है की इमारत का मालिक बीएमसी पर जिम्मेदारी डाल देता है और बीएमसी इमारत के मालिक पर जिम्मेदारी डाल देती है। इन दोनों के बीच फंस रहे है इमारत में रहनेवाले लोग।  हालांकि जब इस मामले में योगेश शाह से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने हमारे फोन का कोई जवाब नही दिया।

शुक्रवार को बीएमसी उपायुक्त विश्वास शंकरवार ने विधायक मनीषा चौधरी और स्थानिय नगरसेवक जीतेंद्र पटेल के साथ इस जर्जर इमारत का दौरा किया और इमारत में रहनेवाले लोगों को आश्वासन दिया की कानून के अनूसार जल्द से जल्द इमारत के मामले में कार्रवाई की जाएगी।

देखिए वीडियो रिपोर्ट-


संबंधित विषय