Advertisement

बदलापुर में उल्हास नदी का पानी खतरे के निशान से ऊपर, सार्वजनिक सेवा हुई बाधित

इसके अतिरिक्त, कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि जल उपचार संयंत्र के एक अधिकारी ने बताया कि एहतियात के तौर पर सभी पंपों को बंद कर दिया गया है।

बदलापुर में उल्हास नदी का पानी खतरे के निशान से ऊपर, सार्वजनिक सेवा हुई बाधित
SHARES

गुरुवार की सुबह बदलापुर, अंबरनाथ और उसके आसपास के इलाकों में मूसलाधार बारिश (mumbai rains) हुई। जिसके बाद उल्हास नदी (ullhas river) का पानी खतरे के निशान को पार कर गया है।

क्षेत्र में जलापूर्ति के लिए जिम्मेदार वाटर ट्रीटमेंट प्लांट (water treatment plant) से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को सुबह 4 बजे बैराज हेडवर्क्स उल्हास नदी का जलस्तर 17.80 मीटर पर पहुंच गई। जो 17.50 मीटर के खतरे के निशान को पार कर चुकी है।

इसके अतिरिक्त, कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि जल उपचार संयंत्र के एक अधिकारी ने बताया कि एहतियात के तौर पर सभी पंपों को बंद कर दिया गया है। इससे 22 जुलाई को बदलापुर, अंबरनाथ और ऑर्डिनेंस में अनियमित जलापूर्ति होगी।

भारी बारिश के कारण वंगानी और अंबरनाथ के बीच लोकल ट्रेन सेवाएं (local train service) भी बाधित हुई है। इसका कारण बदलापुर और अंबरनाथ (ambernath) के बीच जलमग्न रेल पटरियों को बताया जा रहा है।

पिछले दो दिनों से उल्हास नदी के पास आवासीय सोसायटियों को जलभराव का सामना करना पड़ रहा है, जिससे निवासियों को कमर-गहरे पानी के माध्यम से अपना रास्ता बनाना पड़ता है।  

नागरिक प्राधिकरण ने सुरक्षा उपाय के रूप में नदी के पास निचले इलाकों में रहने वाले कुछ निवासियों को भी स्थानांतरित कर दिया है।

नागरिकों को उल्हास नदी, कोंडेश्वर, बरवी बांध, चिकोली बांध सहित अन्य के पास न जाने के भी निर्देश दिए गए हैं।

Read this story in English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें