Coronavirus cases in Maharashtra: 212Mumbai: 85Islampur Sangli: 25Pune: 24Nagpur: 14Pimpri Chinchwad: 12Kalyan: 6Ahmednagar: 5Thane: 5Navi Mumbai: 4Yavatmal: 4Vasai-Virar: 4Satara: 2Panvel: 2Ulhasnagar: 1Aurangabad: 1Ratnagiri: 1Sindudurga: 1Kolhapur: 1Pune Gramin: 1Godiya: 1Jalgoan: 1Palghar: 1Buldhana: 1Nashik: 1Gujrat Citizen in Maharashtra: 1Total Deaths: 8Total Discharged: 35BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

दिल्ली में CAA विरोध के दौरान भड़की हिंसा, मुंबई में भी सुरक्षा बढ़ाई गई

घटना के विरोध में Mumbai में प्रदर्शनकारियों को भी हिरासत में लिया गया

दिल्ली में CAA विरोध के दौरान भड़की हिंसा, मुंबई में भी सुरक्षा बढ़ाई गई
SHARE

CAA और NRC के विरोध के दौरान दिल्ली में हिंसा के बाद मुंबई और आसपास के इलाको में भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है।  दिल्ली में हुई घटना की निंदा करने के लिए सोमवार रात को कुछ लोग अचानक मरिन लाइन्स पर जमा हो गए और मोमबत्ती जलाकर घटना की निंदा करने लगे। हालांकी मरिन ड्राइव पर प्रदर्शन में शामिल होनेवालो की संख्या को बढ़ते हुए देख पुलिस ने गेटवे ऑफ इंडिया की ओर जानेवाले रास्तों को बंद कर दिया था।  कुछ देर के बाद ही पुलिस ने मरिन ड्राइव पर प्रदर्शन कर रहे लोगों को भी हिरासत में ले लिया।डीसीपी संग्राम सिंह निशंदर ने कहा कि विरोध प्रदर्शन के लिए मुंबई में आज़ाद मैदान को रखा गया। इससे स्थानीय लोगों को असुविधा हो रही थी, उन्हें शांति से खदेड़ दिया गया। 

पुलिस ने सोशल मीडिया पर फैल रहे दिल्ली हिंसा के खिलाफ कैंडललाइट विरोध प्रदर्शन करने के आह्वान से संबंधित संदेशों को देखते हुए गेटवे ऑफ इंडिया पर सतर्कता बरतने के लिए यह कदम उठाया। पुलिस उपायुक्त (ऑपरेशन) प्रणय अशोक ने कहा, विरोध प्रदर्शन के लिए निर्धारित स्थान आजाद मैदान को छोड़कर शहर के किसी भी स्थान पर सभा की अनुमति नहीं दी जाएगी। जो लोग किसी भी गैरकानूनी सभा में शामिल होंगे उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।’’

सार्वजनिक संपत्ति का बड़ा नुकसा

पूर्वी दिल्ली के मौजपुर, चांद बाग, शेरपुर चौक और भजनपुरा सहित अन्य इलाकों में दोपहर 12 बजे से शुरू हुई हिसा शाम 5 बजे के बाद भी जारी रही।  सीएए (नागरिकता संशोधन कानून) और NRC के विरोध और समर्थन को लेकर सोमवार को हिंसा भड़क उठी। विरोध प्रदर्शन ने उग्र रूप ले लिया और इसकी चपेट में आकर सार्वजनिक संपत्ति का बड़ा नुकसान हुआ है। एक पुलिसकर्मी सहित 4 लोगों की इसमें मौत हो गई है। राजनीतिक दलों के नेताओं ने भी मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए हिंसा की निंदा की है।

उपद्रवियों ने भजनपुरा में पेट्रोल पंप सहित दो दर्जन दुकानों और घरों को आग लगा दी। इस दौरान गोली लगने से पुलिसकर्मी रतन लाल शहीद हो गए। दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए हैं। घायलों में डीसीपी शाहदरा अमित शर्मा सहित कई पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। पुलिस आयुक्त ने उत्तर-पूर्व जिले के दस थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें