बीसीसीआई के सीईओ को राहत, #Metoo के आरोपों से हुए बरी


SHARE

#Metoo के तहत आरोपों के घेरे में आये बीसीसीआई के सीईओ राहुल चौधरी को बहुत बड़ी राहत मिल गयी है। मामले की जांच में जुटी तीन सदस्यीय जांच समिति ने जौहरी को इस मामले में आरोपों से बरी कर दिया है। आपको बता दें कि पिछले महीने एक महिला ने जौहरी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

कमिटी ने जांच के दौरान महिलाओं द्वारा लगाए गए आरोपों को गलत पाया। जांच कमेटी के अध्यक्ष राकेश शर्मा ने कहा कि जौहरी के खिलाफ लगाए गए सभी आरोप गलत और आधारहीन हैं जो उन्हें नुकसान पहुंचाने के लिए लगाए गए हैं।

गौरतलब है कि आरोपों से घिरने के बाद राहुल जौहरी को तीन सप्ताह के लिए छुट्टी पर भेज दिया गया था, लेकिन अब वे अपनी इच्छा पर कभी भी ज्वाइन कर सकते हैं। जांच कमेटी के एक सदस्य ने जेंडर सेंस्टिविटी काउंसिल भी लेने को कहा है। 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी के खिलाफ सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। महिला ने दावा किया था कि वह डिस्कवरी चैनल में जौहरी के साथ काम कर चुकी हैं। और काम के दौरान ही जौहरी ने उसका हैरेसमेंट किया था। जौहरी 16 साल डिस्कवरी चैनल में काम करने के बाद ही बीसीसीआई के सीईओ बने हैं। जौहरी फिक्की और एसोचेम की विभिन्न समितियों के भी सदस्य रहे हैं।

आरोप लगने के बाद सीओए के चेयरमैन विनोद राय ने एक तीन सदस्यीय स्वतंत्र टीम का गठन कर जांच की जिम्मेदारी सौपीं थी।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें