COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
54,05,068
Recovered:
48,74,582
Deaths:
82,486
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
34,288
1,240
Maharashtra
4,45,495
26,616

विवाद के चलते बिकेगी भारत की सबसे पुरानी आइसक्रीम ब्रांड वाडीलाल


विवाद के चलते बिकेगी भारत की सबसे पुरानी आइसक्रीम ब्रांड वाडीलाल
SHARES

भारत की सबसे पुरानी आइसक्रीम कंपनी वाडीलाल को कौन नहीं जानता। पारिवारिक विवादों का ग्रहण लगने से अब यह कंपनी बिकने की कगार पर पहुंच गयी है। इस कंपनी का ऑफिस गुजरात के अहमदाबाद में हैं। इस कंपनी के मालिक दिवगंत रामचंद्र गांधी थे जो अब उबके बच्चे और भतीजे चला रहे हैं अब उन्ही के बीच यह विवाद पैदा हो गया है। कंपनी की स्थिति को देखते हुए प्रमोटर्स पूरी तरह से इससे बाहर निकलने की सोच रहे हैं। आइसक्रीम बाजार में वाडीलाल का सबसे अधिक वर्चस्व हैै। 

क्या है विवाद?

इस विवाद की जड़ वह सहमती पत्र (एमओयू) है जो 1999 में बना था, इस एमओयू के मुताबिक रामचंद्र के बड़े बेटे वीरेंद्र और राजेश और उनके भाई लक्ष्मण के बेटे देवांशु को वाडीलाल ग्रुप की कंपनियों में बराबर की हिस्सेदारी दी गई थी। इसमें अनलिस्टेड वाडीलाल केमिकल्स कंपनी भी शामिल थी। 

लेकिन वीरेंद्र गांधी ने 2015 में कंपनी लॉ बोर्ड में एक याचिका दायर की, जिसके मुताबिक, इन बिजनस पर संयुक्त मालिकाना हक रहेगा और कोई भी पार्टी सीधे या अप्रत्यक्ष तौर पर किसी लिस्टेड कंपनी या पार्टनरशिप फर्म में बिना लिखित सहमति के हिस्सेदारी नहीं बढ़ा सकती। कंपनी के सबसे बड़े प्रमोटर्स वीरेंद्र गांधी ने ने याचिका दायर कर आरोप लगाया कि उनके भाई राजेश और कजिन देवांशु ने मिलकर गलत तरीके से वाडीलाल केमिकल्स पर कब्जा कर लिया है।  

अपने आरोप में वीरेंद्र ने कहा है कि उनके भाई और कजिन ने मिलकर उन्हें इस कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर के पद और बोर्ड से हटा दिया है। इस मामले में आउट ऑफ कोर्ट सेटलमेंट हुआ, जिसकी डिटेल सार्वजनिक नहीं कई गई। 

वैल्यूएशन और हिस्सेदारी तय करेगी कीमत 

ख़बरों के अनुसार बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड इस कंपनी के 64 फीसदी शेयर इसके प्रमोटर्स के पास हैं अब कंपनी की वैल्यूएशन और उसकी हिस्सेदारी के आधार पर ही इसे बेचा जाएगा। इस कार्य में कंपनी ने लिंकन इंटरनेशनल को इन्वेस्टमेंट बैंकर चुना है। कंपनी के सबसे बड़े प्रमोटर वीरेंद्र गांधी हैं, कयास लगाया जा रहा है कि वे अपना हिस्सा बेच सकते हैं। 

कंपनी प्रॉफिट में 

कंपनी को वित्त वर्ष 2016-17 में 16.33 करोड़ का मुनाफा हुआ था और कुल इनकम 482.34 करोड़ रुपये थी। वाडीलाल के शेयर पिछले शुक्रवार को 1,029.55 रुपये पर बंद हुए थे और कंपनी की मार्केट वैल्यू 740 करोड़ रुपये थी। 

 

संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें