सिद्धि विनायक मंदिर में पुजारी ने की चोरी, मामला दर्ज

एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें इस मंदिर का एक पुजारी भक्तों के द्वारा चढ़ावे के रूप में चढ़ाए जाने वाले रूपये को दान पात्र में डालने के बदले अपने पास रख ले रहा है।

सिद्धि विनायक मंदिर में पुजारी ने की चोरी, मामला दर्ज
SHARES

भारत के सबसे अमीर मंदिरों में से एक मुंबई के सिद्दीविनायक मंदिर में से एक चौंका देने वाली घटना सामने आई है। एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें इस मंदिर का एक पुजारी भक्तों के द्वारा चढ़ावे के रूप में चढ़ाए जाने वाले रूपये को दान पात्र में डालने के बदले अपने पास रख ले रहा है। इस वीडियो को एक भक्त (शिकायतकर्ता) ने बनाकर सोशल मीडिया में पोस्ट कर दिया। यही नहीं उस भक्त ने एंटी करप्शन विभाग को पत्र लिख कर जांच करने की भी मांग की है।

क्या है वीडियो में?

मुंबई में स्थित सिद्धि विनायक मंदिर में बाप्पा के दर्शन करने के लिए मुंबई में ही नहीं पूरी दुनिया से भक्त दर्शन करने के लिए आते हैं। इस मन्दिर में चालू दिनों में हजारो तो तीज त्योंहारों पर लाखो रूपये का चढ़ावा चढ़ता है।

शिकायतकर्ता आतिश करंजवणे के अनुसार जब वह 9 फरवरी को सिद्धि विनायक मंदिर में दर्शन करने के लिए गया था तो वहां मंदिर के पुजारी को नोटों के रूप में जो चढ़ावा दे रहे थे उन नोटों को पुजारी दानपात्र में डालने के बजाय अपने कमर से बांधे एक कपड़े में छुपा लेता।

यही नहीं शिकायतकर्ता के अनुसार पुजारी के इस करतूत की खबर जब मंदिर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष रवि जाधव को लगी तो उन्होंने उस पुजारी (चंद्रकात मुले) को बुलाया और उनकी तलाशी ली। इस तलाशी में पुजारी के पास से 100 और 500 के कई नोट मिले। जब पुजारी से इस इसका जवाब मांगा गया तो उसने कहा कि वे बाद में दानपेटी में पैसा डालने वाला था. पुजारी के विरोध में आतिश ने दादर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है।

शिकायत के बाद भी कोई पुजारी ड्यूटी पर 

हद तो तब हो गई जब शिकायतकर्ता आतिश फिर से बाप्पा के दर्शन के लिए पहुंचे और फिर से वही पुजारी चढ़ावे के रूप में चढ़ाये गए पैसों को फिर से चुराते नजर आया। आतिश के अनुसार पुजारी विशेष रूप से 500 रूपये और 2000 रूपये के नोटों को ही चुराता है।

लेंगे पुलिस कमिश्नर से मदद

आतिश ने आरटीआई के तहत पैसे चुराए जाने वाले दिन के सीसीटीवी फुटेज की मांग की है। आतिश में मुंबई लाइव से कहा कि वे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर ही मुंबई पुलिस कमिश्नर से इस बात की शिकायत करेंगे।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय