SHARE

बांद्रा में ऑनलाइन 'पोकर गेम' चलाने वाले अमिन रोजानी से 50 लाख रूपये फिरौती मांगने के मामले में बुधवार को पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। आरोपी का नाम इरफ़ान मेमन है। इरफ़ान अमिन को फोन पर पाकिस्तान से फहीम मचमच के नाम पर धमकी देता था।  यही नहीं इरफ़ान ने फहीम को वाट्सऐप पर भी धमकी था.दिया। पुलिस ने बताया कि इरफ़ान अमिन को 13 बार धमकी दे चुका था।


 पकिस्तान से जुड़ा कनेक्शन 

पुलिस द्वारा की जा रही जांच के अनुसार बांद्रा में एनजीओ चलाने वाली महिला को नवंबर महीने में धमकी भरे तीन कॉल किये गए थे। इनमें से दो फोन उस्मान चौधरी नामके एक शख्स ने पाकिस्तान से किया था और एक फोन दिल्ली से हरीश यादव ने किया था। पुलिस ने दिल्ली से हरीश को गिरफ्तार किया। हरीश से पूछताछ में ललित शर्मा और बिलाल कुतुबुद्दीन नामके दो कुख्यात अपराधियों के नाम सामने आए। पुलिस ने बांद्रा से बिलाल को जब गिरफ्तार किया तो उसने पुलिस को शार्पशूटर जगबीर और मूख्य सूत्रधार फहीम मचमच, उस्मान चौधरी, दाऊद इब्राहिम और छोटा शकिल के नाम का खुलासा किया।


हीरानंदानी बंधू भी थे निशाने पर

बिलाल ने पुलिस को बताया कि फहीम ने उन्हें न केवल बांद्रा की रहने वाली एक महिला सामाजिक कार्यकर्ता की सुपारी दी थी बल्कि हीरानंदानी बंधू और पोकर गेम चलाने वाले अमिन रोजानी भी निशाने पर थे। उसने आगे कहा कि मुंबई में कोई शार्प शूटर नहीं मिलने के कारण फहीम ने पंजाब के जगबीर को अन्य तीन व्यवसाइयों की जानकारी एकत्र करने के लिए कहा। लेकिन जब जगबीर अरेस्ट हो गया तो यह काम इरफ़ान मेमन को सौंप दिया गया।


अमिन ने दर्ज कराई शिकायत

पुलिस ने स्पष्ट किया कि फोन पर जब अमिन से 50 लाख रूपये की फिरौती मांगी गई तो शुरू में अमिन ने कोई ध्यान नहीं दिया। इसके बाद 29 दिसंबर को अमिन के वॉट्सऐप नंबर पर वौइस् मैसेज और टेक्स्ट मैसेज सहित 13 बार उससे संपर्क करने की कोशिश की गयी। 30 जनवरी को अमिन जब अपनी गाड़ी से कहीं जा रहा था तभी उसके गाड़ी के नंबर का कोई फोटो ले रहा था। यह देख अमिन डर गया और उसने पुलिस से इस बात की शिकायत की। जिसे बाद में मुंबई पुलिस ने एंटी एक्सटॉर्शन सेल को ट्रांसफर कर दिया।

अमिन और मेमन के भाई के हैं अच्छे संबंध

जब सेल ने जांच शुरू की तो मेमन को गिरफ्तार किया गया। मेमन ही अमिन के गाड़ी के नंबर का फोटो खींच रहा था। यही नहीं पुलिस ने आगे बताया कि मेमन के नाम पर कुल 80 केस दर्ज हैं। सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार मेमन के भाई और अमिन के बेहद ही अच्छे संबंध हैं. इसीलिए मेमन ने अमिन को धमकाने का काम खुद न करके फहीम मचमच से यह काम कराया।


अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि अमिन को जिस शख्स ने फोन पर पाकिस्तान से बोलने और फिरौती की मांग की वह कौन था और क्या वह सही में पाकिस्तान से फोन कर रहा था?
 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें