आईएसआईएस का संदिग्ध आरोपी नजीम सउदी अरब में भी जा चुका था जेल


SHARE

आईएसआईएस के लिए युवकों की भर्ती करने वाला नजीम पूछताछ में एक से एक खुलासे कर रहा है। एटीएस अधिकारी ने आगे बताया कि नजीम करीब तीन महीने पहले नौकरी पाने के लिए उत्तर प्रदेश के बिजनौर से मुंब्रा आया था। वह कुछ तोड़फोड का काम करना चाहता था और उसके स्थानीय संपर्कों की जांच की जा रही है। जांच से खुलासा हुआ है कि नजीम सउदी अरब के दमाम प्रांत में साढ़े तीन सैलून तक काम कर चुका था। सउदी अरब में पुलिस ने पासपोर्ट से जुड़े मामले में उसे गिरफ्तार किया था और 18 दिनों तक वह जेल में रहा था। बाद में उसे भारत वापस भेज दिया गया। वह अभी उत्तर प्रदेश पुलिस की हिरासत में है।

| यह भी पढ़े : मुम्ब्रा से तीन गिरफ्तार, ISIS से जुड़े होने का शक

पूछताछ के बाद जांच अधिकारियों ने दावा किया कि पिछले हफ्ते देश भर में हुई कार्रवाई में गिरफ्तार संदिग्ध आईएसआईएस का सदस्य नजीम शमशाद शाह जिहाद के संबंध में दुष्प्रचार करने वाले ऑनलाइन वीडियो से प्रेरित था और वह कुछ किसी घटना को अंजाम देना चाहता था। महाराष्ट्र आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) के एक अधिकारी ने कहा कि वह फेसबुक पर कुछ वीडियो क्लिप देखकर जिहादी विचारों से प्रेरित हुआ था और उसने इस बारे में चैटिंग शुरू कर दी थी। महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश एटीएस के संयुक्त अभियान में 20 अप्रैल को उमर उर्फ़ नजीम शमशाद और गुलफान अंसारी को ठाणे के मुंब्रा से गिरफ्तार किया गया था।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें