ईमानदारी से ड्यूटी करने पर इतनी बड़ी सजा मिली विक्रांत को


  • ईमानदारी से ड्यूटी करने पर इतनी बड़ी सजा मिली विक्रांत को
  • ईमानदारी से ड्यूटी करने पर इतनी बड़ी सजा मिली विक्रांत को
SHARE

पेट्रोल पंप पर मोबाइल पर बात करने से मना करने पर एक युवक इतना नाराज हुआ कि उसने मना करने वाले कर्मचारी को पीट दिया। इस मामले में पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई भी नहीं की, आरोपियों को फाइन मार कर छोड़ दिया। घटना चेंबूर इलाके की है।

मिली ईमानदारी की सजा 

कुछ दिनों पहले चेंबूर के HP पेट्रोल पंप पर कुर्ला कसाईवाड़ा का रहने वाला एक युवक अपनी बाइक पर पेट्रोल भरवाने आया। यह युवक मोबाइल पर बात कर रहा था। पेट्रोल पंप कर्मचारी विक्रांत सिंह ने इस युवक को मोबाइल पर बात करने से रोका, लेकिन युवक नहीं माना। विक्रांत ने फिर से युवक को रोका, इतने में युवक का पारा सातवें आसपाम पर चढ़ गया और वह विक्रातं के साथ उलझ गया। यही नहीं युवक का मन इतने से ही नहीं भरा, उसने फोन करके अपने और 7-8 साथियों को बुला लिया। सभी ने मिलकर विक्रांत को पीट दिया और मौके से भाग गए। 

पुलिस ने आरोपियों को छोड़ा

विक्रांत ने इस घटना की शिकायत चुनाभट्टी पुलिस स्टेशन में की। लेकिन पुलिस ने इतने गंभीर मामले को बेहद ही हल्के में लिया। पुलिस ने सभी आरोपियों को हिरासत में लिया और सभी को फाइन मार कर छोड़ दिया।

घट सकती थी बड़ी घटना

पुलिस ने जिस  तरह से अपनी संवेदनहीनता का परिचय दिया वह काफी चौंकाने वाला है। विक्रांत को अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभाने के सजा मिली। पेट्रोल पंप पर मोबाइल पर बात करना कानूनन जुर्म है। इसकी चेतावनी हर पेट्रोल पंप पर लिखी होती है। इससे बहुत बड़ी दुर्घटना घट सकती थी, लेकिन पुलिस तो दुर्घटना घटने के बाद ही चेतती है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें