गैंगस्टर अबू सलेम ने पुर्तगाल अधिकारियों से की शिकायत, उसे चिकन नहीं दिया जाता


SHARE

गैंगस्टर अबू सलेम ने तलोजा जेल अधिकारियों की शिकायत पुर्तगाल के दूतावास अधिकारियों से की है। अबू सलेम ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उसे एक छोटी से कोठरी में बंद किया गया है जहां ने तो ठीक से हवा आती है और न ही सूर्य की रोशनी। यही नहीं उसने कहा कि उसे किसी के साथ बोलने नहीं दिया जाता है और उसे जबरन शाकाहारी खाना दिया जाता है जबकि उसे खाने को चिकन चाहिए। आपकप बता दें कि मंगलवार को गैंगस्टर अबू सलेम से मिलने पुर्तगाल के अधिकारी तलोजा जेल पहुंचे थे।

'सलेम रहता है बीमार'

सलेम की वकील सबा कुरैशी ने भी शिकायत की कि सलेम का शौचालय काफी छोटा और गंदा है, इसीलिए वे बीमार रहते हैं। जेल अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कुरैशी ने कहा कि सलेम ने कई बार घुटने और आंखों में तकलीफ होने की शिकायत जेल अधिकारियों से की लेकिन जेल अधिकारी हर बार बहाना बना देते हैं। यही नहीं रिश्तेदारों को भी सलेम से मिलने नहीं दिया जाता।
कुरैशी ने यह भी दावा किया कि भारत सरकार ने पुर्तगाल के साथ उस शर्त को भी तोड़ा है जिसके मुताबिक सलेम को 25 साल से ज्यादा सजा नहीं दी जा सकती थी लेकिन उसे उम्र कैद की सजा दी गयी है।


'आरोपों का खंडन'
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इन तमाम आरोपों का खंडन करते हुए जेल के एसपी सदानंद गायकवाड़ ने कहा कि बहुत सारे लोग उसी बैरक में रहते हैं जिसमे सलेम रहता है। उस बैरक की छत खुली हैं, जहां से शुद्ध हवा और सूरज की रोशनी आता रहती है। उन्होंने आगे कहा कि सलेम को चिकन नहीं दे सकते। अगर डॉक्टर उसे अंडे देने को कहेगा तो हम उपलब्ध करा सकते हैं। गायकवाड़ ने यह भी कहा कि डॉक्टर कहते हैं कि वह पूरी तरह स्वस्थ्य है। उसके सारे आरोप बेबुनियाद हैं।
 

गौरतलब है कि सलेम ने शिकायत की थी कि उसकी जान को खतरा है जिसके बाद पुर्तगााल के अधिकारी उससे मिलने तलोजा जेल पहुंचे थे। इस मुलाकात के समय आईजी जेल के साथ सलेम का इलाज करने वाले डॉक्टर, एसपी तलोजा जेल और सलेम की वकील सबा कुरैशी भी वहां मौजूद थीं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें