सानिका ने लिखी सफलता की कहानी !

मन में कुछ कर गुजरने की चाहत और सच्ची लगन हो तो सफलता मिलनी तय है। इसका उदाहरण पेश किया है, 16  साल की सानिका रानडे ने। उन्होंने 10वीं में 100 फीसदी अंक हासिल किए हैं। मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाली सानिका अपने माता पिता के साथ कांदिवली में रहती हैं। उनके पिता योगेश रानडे मुंबई की एक कंपनी पिडिलाइट में कार्यरत हैं।

सानिका का कहना  है कि उनके माता-पिता को भी उम्मीद नहीं थी कि उनकी बेटी 100 फीसदी अंक लेकर आएगी।  पर उन्हें यह उम्मीद थी कि में बेहतर करूंगी।  माता पिता मेरी सफलता से बेहद खुश हैं। मोहल्ले में मिठाइयां बांट रहे हैं। सानिका ने अपने टीचर्स और दोस्तों का भी शुक्रिया अदा किया है। उनका कहना है, माता-पिता के अलावा सभी टीचर्स और दोस्तों ने उन्हें प्रेरित किया साथ ही हरेक परिस्थिति में मेरा साथ दिया।  

सानिका कि इस उपलब्धि से ठाकुर विद्या मंदिर हाई स्कूल और जूनियर कॉलेज में भी खुशी का माहौल है। ठाकुर विद्या मंदिर हाई स्कूल और जूनियर कॉलेज की प्रिंसपल अनुराधा कामत सानिका की सफलता से बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि सानिका पढ़ाई और संगीत दोनों में बहुत अच्छी है। साथ ही वह दोनों का बैलेंस करना भी बाखूबी जानती है।

ठाकुर विद्या मंदिर हाई स्कूल के हेड मास्टर शैलेश सिंह सानिका की सफलता को अपनी सफलता मानते हैं। उनका कहना है कि जब कोई स्टुडेंट बेहतर करता है तो टीचर्स को सबसे ज्दादा खुशी होती है। ऐसा लगता है कि यह हमने ही किया है।

इस स्कूल में सानिका नर्सरी से पढ़ रही हैं और आगे की पढ़ाई भी वे यहीं से करना चाहती हैं। उनका सपना डॉक्टर बनने का है और इसे पूरा करने के लिए वे भरकस मेहनत करने के लिए तैयार हैं। उन्हें उम्मीद है कि वे इस सफर में सफल जरूर होंगी।  


Loading Comments