मीरा भायंदर इलाके में 157 कुपोषित बच्चे

36 बच्चों को गंभीर कुपोषण की श्रेणी में रखा गया है

SHARE

मुंबई से सटे मीरा भायंदर इलाके में 157 कुपोषित बच्चों का मामला सामने आया है।  157 कुपोषित बच्चों में से 36 बच्चों को गंभीर कुपोषण की श्रेणी में रखा गया है। मापदंडों के अनुसार, 121 बच्चों को मध्यम कुपोषण की श्रेणी में रखा गया है। हालांकि, प्रशासनिक उदासीनता के कारण, कुपोषित बच्चे एकीकृत बाल विकास सेवा (ICDS) के योजनाबद्ध मानदंडों के तहत सामाजिक कल्याण विंग द्वारा संचालित आंगनवाड़ी केंद्रों में बुनियादी सुविधाओं से वंचित हैं।

राज्य में आदिवासी समुदाय के कल्याण के लिए लागू की जा रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के लिए एक सरकारी पैनल का गठन करने वाले पूर्व विधायक विवेक पंडित द्वारा इन आकड़ो को सामने लाया गया।  विवेक पंडित की अगुवाई वाले पैनल ने शुक्रवार को मीरा भायंदर में आदिवासी बहुल इलाको और  आंगनवाड़ियों का दौरा किया और  पाया की सरकारी स्कीम को लागू करने में कई अनियमितताएं हो रही है। 


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुसार, माताओं और बच्चों के लिए भोजन और पोषण सुनिश्चित करने के लिए और कुपोषण से निपटने में आंगनवाड़ियों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जिसके लिए पूरक पोषण, टीकाकरण से युक्त एकीकृत सेवाओं के पैकेज के लिए अलग से केंद्रीय धनराशि निर्धारित की जाती है।

यह भी पढ़े- बुधवार से रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल

संबंधित विषय