Advertisement

बरसात में और फैल सकता है कोरोना वायरस, IIT बॉम्बे की रिपोर्ट

वैज्ञानिकों का कहना है कि मुंबई, कोलकाता, गोवा जैसे शहर डेंजर जोन में हैं।

बरसात में और फैल सकता है कोरोना वायरस, IIT बॉम्बे की रिपोर्ट
SHARES

कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर IIT बॉम्बे ने एक रिपोर्ट तैयार की है। यह रिपोर्ट चौकानें वाली है। रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि बरसात के मौसम (monsoon season) में कोरोना का संक्रमण (Corona pandemic) और तेज गति से फैल सकता है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बरसात के मौसम में हवा में नमी (humidity) रहती है, और कोरोना वायरस यानी Covid-19 नमी बढ़ने पर वातावरण में और अधिक समय तक जिंदा रह सकता है। इस रिपोर्ट से आम लोगों सहित प्रशासन के माथे पर भी चिंता की लकीर पड़ सकती है।

इस रिपोर्ट को तैयार किया है IIT बॉम्बे (IIT Bombay) के दो प्रोफेसर रजनीश भारद्वाज और अमित अग्रवाल ने। इन दोनों ने जो रिपोर्ट तैयार की है उसके मुताबिक नम मौसम में अगर कोई मरीज छींकता या खांसता है तो उसके मुंह से जो खांसी या छींक के ड्रॉपलेट्स निकलेंगे उन्हें नमी की वजह से सूखने में समय लगेगा। नमी होनेे सेे वायरस वातावरण में अधिक समय तक बने रहेंगे। 

प्रोफेसर रजनीश भारद्वाज और अमित अग्रवाल ने इस स्टडी को मार्च माह में शुरू किया गया था। इसके लिए उन्होंने तापमान, ह्यमिडिटी और सरफेस को आधार बनाया। दोनों प्रोफेसर ने कोरोना वायरस मरीज की छींक से निकलने वाले ड्रॉपलेट को सुखाया। इसके बाद इसकी सूखने की गति और दुनिया के 6 शहरों में हर दिन होने वाले संक्रमण से इसकी तुलना की।

रिसर्च के आधार पर रजनीश भारद्वाज ने बताया कि खांसने या छींकने से विषाणु एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंच जाते है। उन्होंने बताया सूखे वातावरण के मुकाबले नमी वाले इलाके में वायरस के रहने की क्षमता 5 गुना तक बढ़ जाती थी। ऐसे में मुंबई में जल्द ही मानसून आने वाला है और वहां नमी का स्तर 80 प्रतिशत से ज्यादा हो जाता है। तो ऐसे में कोरोना के संक्रमण के मामले मानसून के दौरान और तेजी से बढ़ सकते हैं।

रजनीश भारद्वाज ने बताया कि गर्म मौसम में खांसने और छिकनें के बाद निकलने वाले वायरस तुरंत सूखकर मर सकते हैं। गर्म मौसम में ड्रॉपलेट तुरंत भाप बनकर सूख जाता है, इसलिए रिस्क रेट में कमी आ जाती है। हालांकि, भारतीय अनुविज्ञान परिषद और एम्स दोनों ने अभी तक इस तरह की किसी भी स्टडी के पक्ष में हामी नहीं भरी है। 

संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें