राज्य में रक्त की कमी, लोगों से रक्तदान करने की अपील

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि बैंकों में मौजूदा आपूर्ति केवल एक सप्ताह तक चलेगी। उन्होंने लोगों से रक्तदान करने का भी आग्रह भी किया।

राज्य में रक्त की कमी, लोगों से रक्तदान करने की अपील
SHARES


देश के बाकी हिस्सों की तरह महाराष्ट्र में भी 21 दिनों का लॉकडाउन लगा है ताकि कोरोनो वायरस को और फैलने से रोका जा सके।  भारत में कोरोना पीड़ितों की संख्या लगभग 900 के आंकड़े को पार कर चुकी है और महाराष्ट्र भी सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक है। यहाँ अब तक सबसे अधिक 181 लोगों का टेस्ट पॉजिटिव आ चुका है। 

 हालांकि राज्य का तंत्र इस महामारी से निपटने की हर संभव कोशिश कर रहा है। लेकिन खबर है कि राज्य में खून की कमी जो गयी है। ब्लड बैंक में मात्र एक हफ्ते तक का ही ब्लड बचा है। 

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि बैंकों में मौजूदा आपूर्ति केवल एक सप्ताह तक चलेगी। उन्होंने लोगों से रक्तदान करने का भी आग्रह भी किया।  उन्होंने उल्लेख किया कि रक्त को केवल कोरोनो वायरस से पीड़ित लोगों के इलाज के लिए ही नहीं बल्कि अन्य बीमारी के मामले के लिए भी आवश्यक है।

 राजेश टोपे ने आगे कहा, "रक्त एक ऐसी चीज है जिसका कोई विकल्प नहीं है। हम इसके बिना कुछ नहीं कर सकते। रक्त में 35 दिनों का शेल्फ जीवन होता है,  इसलिए, पुलिस और प्रशासन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि रक्तदान शिविर आयोजित किए जाएं। हालांकि उन्होंने सामाजिक दूरी यानी सोशल डिस्टेंस को ही ध्यान में रखने की बात कही।

रक्तदान के लिए पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पोस्ट के जरिये लोगों से अपील की है।  उन्होंने एक नंबर को भी साझा किया है जिस पर लोग कॉल कर ब्लड बैंक वालों को अपने घर बुलाकर ही रक्त दान कर सकेंगे।

 सिद्धि विनायक मंदिर ने भी गुड़ी पड़वा के अवसर पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया था।  वे डोरस्टेप ब्लड डोनेशन ड्राइव का प्रबंधन भी कर रहे हैं जिसका उल्लेख आदित्य ठाकरे ने भी किया है।

संबंधित विषय