SHARE

खाद्य और औषधि प्रशासन (FDA) होम्योपैथी डॉक्टरों द्वारा निर्धारित एलोपैथी दवाओं की बिक्री करते पाए जाने पर केमिस्टों के खिलाफ कार्रवाई करेगा।  ऑल फूड एंड ड्रग्स लाइसेंस होल्डर्स फाउंडेशन (एएफडीएलएचएफ) द्वारा पिछले सप्ताह एफडीए को पत्र लिखकर उनसे केमिस्टों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग के बाद ये फैसला लिया गया है।  ऑल फूड एंड ड्रग्स लाइसेंस होल्डर्स फाउंडेशन के अध्यक्ष अभय पांडे ने कहा कि होम्योपैथी डॉक्टर एलोपैथी का अभ्यास तभी कर सकते हैं जब उन्होंने ब्रिज कोर्स पूरा कर लिया हो। 

छह महीने के कोर्स को पूरा करना जरुरी

राज्य सरकार ने होम्योपैथी डॉक्टरों को एलोपैथी का अभ्यास करने की अनुमति दी थी, लेकिन उन्हें ऐसा करने की अनुमति केवल तभी दी जाती है जब उन्होंने हो, हालांकी  ब्रिज कोर्स कहीं भी शुरू नहीं हुआ है और ब्रिज कोर्स से एक भी बैच स्नातक नहीं हुआ है।


ऑल फूड एंड ड्रग्स लाइसेंस होल्डर्स फाउंडेशन के अध्यक्ष अभय पांडे ने एख अखबार से बात करते हुए कहा की   होम्योपैथी डॉक्टरों को एलोपैथी दवाओं को निर्धारित करने का अधिकार नहीं है। लेकिन वे अभी भी इसे लिखते हैं, यहां तक कि खुदरा विक्रेता भी जानते हैं कि दवा होम्योपैथी चिकित्सक द्वारा निर्धारित की गई है। ऐसा करके वे ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक एक्ट (1940) के मानदंडों का उल्लंघन कर रहे हैंजिसके लिए हमने एफडीए से इस तरह की कार्रवाई करने की मांग की।

यह भी पढ़े- बेस्ट के 1 हजार 333 कर्मचारियों को कैंसर का खतरा

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें