चलती फिरती हॉस्पिटल ट्रेन लाइफलाइन एक्सप्रेस पहुंची मुंबई

यह ट्रेन जीवनरेखा एक्सप्रेस इम्पेक्ट इंडिया फाउंडेशन, भारतीय रेलवे और स्वास्थ्य मंत्रालय के सहयोग से चलती है।

SHARE

शुक्रवार को अस्पताल ट्रेन यानी लाइफलाइन एक्सप्रेस CSMT पहुंची. यह भारत की ऐसी पहली ट्रेन है जो दूर दराज लोगों को इलाज मुहैया कराती है. अब तक यह ट्रेन  लगभग 12 लाख रोगियों को चिकित्सा सुविधा प्रदान कर चुकी है।बताया जाता है कि इस ट्रेन की शुरूआत साल 1991 में हुई थी। ट्रेन का नाम लाइफलाइन एक्सप्रेस इसलिए रखा गया क्योंकि यह एक चलती फिरती हॉस्पिटल है।  

लाइफलाइन एक्सप्रेस ट्रेन एक सिस्टम के तहत काम करती है. इलाज के लिए पहले मरीजों के लिए एक योजना बनायी जाती है फिर इस ट्रेन में मरीजों को तारीख दी जाती है। तारीख आने पर मरीजों का इलाज किया जाता है। यही नहीं कई बड़ी कंपनियां मरीजों के इलाज में सहयोग देती हैं। सबसे बड़ी बात कि मरीजों से किसी तरह की कोई फीस नहीं ली जाती है. इस ट्रेन को आईआईएफ(इंटरनेशनल चैरिटेबल सोर्स) और कई लोगों द्वारा फंड दिया जाता है।

यह ट्रेन जीवनरेखा एक्सप्रेस इम्पेक्ट इंडिया फाउंडेशन, भारतीय रेलवे और स्वास्थ्य मंत्रालय के सहयोग से चलती है। इस ट्रेन ने भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ी है और प्रेरणा दी है। विकलांग वयस्कों और बच्चों के लिए ऑन द स्पॉट उपचार प्रदान करने के लिए लाइफलाइन एक्सप्रेस शुरू की गई थी।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

YouTube वीडियो