Advertisement

मुंबई में क्वारंटाइन के नियमों में किया गया बदलाव


मुंबई में क्वारंटाइन के नियमों में किया गया बदलाव
SHARES

मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने कोरोना रोगियों (COVID patient) के क्वारंटाइन सेंटर (quarantine cender) में रखे जाने वाले नियमों को लेकर बदलाव किया है।

इस नए नियमों के तहत, 50 वर्ष और उससे अधिक आयु के कोरोना के मरीजों को अब होम क्वारंटाइन (home quarantine) यानी घर पर अलग से नहीं रखा जाएगा।

अगर ऐसे मरीजों को कोई लक्षण नहीं मिलने पर भी उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उन्हें भी COVID सेंटर पर ही भेज दिया जाएगा। इस बाबत BMC ने एक परिपत्र भी जारी किया है।

हालांकि अब कोरोना धीरे-धीरे मुंबई में नियंत्रण में आ रहा है। साथ ही हर दिन मरीजों की संख्या ही कम हो रही है। जिसके बाद नगरपालिका ने अब क्वारंटाइन नियमों में बदलाव किया है। जिसके तहत 50 साल से अधिक आयु के मरीजों को घर पर नहीं, कोविड केयर सेंटर में रखा जाएगा। इन रोगियों के घरों को इमारत को और गलियों को BMC द्वारा सेनेटाइज किया जाएगा।

नगर पालिका ने यह निर्णय इसलिए लिया है क्योंकि, 50 से 60 वर्ष की आयु के व्यक्तियों की मृत्यु दर अधिक है।

इसके पहले नियमानुसार, हल्के लक्षणों वाले 60 वर्ष तक के लोगों को होम क्वारंटाइन में ही रखने की सहूलियत दी जाती थी।

हवाई मार्ग से मुंबई आने वाले सभी यात्रियों को हवाई अड्डे पर ही उनका टेस्ट किया जाएगा। मुंबई के मेयर किशोरी पेडणेकर (mayor kishori pednekar) ने कहा कि कोरोना परीक्षण करने के लिए विदेश से मुंबई आने वालों के लिए यह टेस्ट अनिवार्य होगा।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें