Advertisement

खुशखबरी! भारत का सदाबहार दोस्त रूस कोरोना की 10 करोड़ वैक्सीन कराएगा उपलब्ध


खुशखबरी! भारत का सदाबहार दोस्त रूस कोरोना की 10 करोड़ वैक्सीन कराएगा उपलब्ध
SHARES

कोरोना वायरस (Coronavirus) जैसी जानलेवा महामारी के ख़ौफ में जी रहे भारत के नागरिकों के लिए खुशखबरी है। रूस (russia) ने भारत को कोविड-19 के टीके ‘स्पुतनिक वी’ की 10 करोड़ खुराक की आपूर्ति करने का निर्णय किया है। रूस की तरफ से यह निर्णय रूस की सरकारी संपत्ति कोष ‘रसियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड’ (RDIF) नियामक की तरफ़ से मंजूरी मिलने के बाद लिया गया। रूस भारत की दवा कंपनी डॉक्टर रेड्डीज लैबोरेटरीज के साथ मिलकर टिके का उत्पादन भी करेगा। रूस ने दावा किया है कि उसने दूनिया की पहली एंटी कोविड 19 टिके का ईजाद कर लिया है।

डॉक्टर रेड्डीज और RDIF ने एक संयुक्त बयान में कहा कि RDIF और डॉक्टर लैबोरेटरीज ने भारत में 'स्पुतनिक वी' टीके के चिकित्सकीय परीक्षण और वितरण के लिए सहयोग पर सहमति भरी है।

हालांकि इस टीके की देश में आपूर्ति 2020 के अंत तक शुरू हो पाएगी। इससे पहले इस टिके को भारतीय नियामकीय संस्थाओं की जांच, परीक्षण और पंजीकरण की शर्तों को पूरा करना होगा। साथ ही अभी इस टिके की वित्तीय जानकारी भी सामने नहीं आई है।


गौरतलब है कि, रूस ने पिछले महीने घोषणा की कि उसने कोरोना के खिलाफ एक टीका लॉन्च किया था।  रूस ने वैक्सीन का नाम 'स्पुतनिक वी' रखा है।  11 अगस्त को, राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने पहले टीके की घोषणा की।  इसका नाम सोवियत संघ द्वारा लॉन्च किए गए दुनिया के पहले उपग्रह के सम्मान में रखा गया है।

यह टीका पहले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं सहित उच्च जोखिम वाले लोगों को दिया जाएगा। इसे RDIF के मौजूदा गमालया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा विकसित किया गया है। यह दुनिया का पहला पंजीकृत कोविड-19 टीका है.

आरडीआईएफ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी किरिल दिमित्रिदेव ने कहा कि, भारत कोविड-19 से सबसे बुरी तरह प्रभावित देशों में से एक है। हमें भरोसा है कि हमारा मानवीय एडीनोवायरस डुअल वैक्टर मंच भारत को कोविड-19 से निपटने के उसके प्रयासों में एक सुरक्षित और वैज्ञानिक विकल्प उपलब्ध कराएगा।

डॉक्टर रेड्डीज के सह-चेयरमैन और प्रबंध निदेशक जी.वी. प्रसाद ने कहा कि हम भारत में इसके तीसरे चरण के परीक्षण करेंगे जिससे कि भारतीय आबादी की बेहतरी और सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके. इसके साथ ही भारतीय नियामकों की जरूरतों को भी पूरा किया जा सके. स्पुतनिक-वी टीका भारत में कोविड- 19 के खिलाफ लड़ाई में एक बेहतर विकल्प उपलब्ध कराएगा.’

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय