वारिस पठान की गिरफ्तारी का मुंबई पुलिस ने किया खंडन

शुक्रवार को वारिस पठान दक्षिण मुंबई में मदनपुरा की एक मस्जिद में जुमे की नमाज अता करने गए थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि मस्जिद में कश्मीरी लोगों और कोल्हापुर बाढ़ पीड़ितों के लिए दुआ मांगी गई।

SHARE

मुंबई पुलिस ने उस बात का खंडन किया है जिसके मुताबिक ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के विधायक वारिस पठान को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने बताया कि वारिस पठान को गिरफ्तार नहीं किया गया था बल्कि उन्हें उस जगह से दूर किया गया जहां सामूहिक प्रार्थना हो रही थी।  

क्या था मामला?
शुक्रवार को वारिस पठान दक्षिण मुंबई में मदनपुरा की एक मस्जिद में जुमे की नमाज अता करने गए थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि मस्जिद में कश्मीरी लोगों और कोल्हापुर बाढ़ पीड़ितों के लिए दुआ मांगी गई। 

यही नहीं वारिस पठान ने भी कहा कि मदनपुरा स्थित एक मस्जिद में नमाज अता होने के बाद वहां आए कुछ लोगों ने कश्मीरी लोगों के लिए दुआ करने पर जोर दिया। तभी वहां पुलिस आई और उसने कथित रूप से उन्हें हिरासत में लिया।

इस मामले में नागपाड़ा पुलिस ने कहा कि, पठान को गिरफ्तार नहीं किया गया है। वहां पर हो रही सामूहिक प्रार्थना के लिए किसी भी प्रकार की कोई इजाजत नहीं ली गयी थी। इसीलिए हमने उस कार्यक्रम से विधायक जी को केवल दूर रखा।

आपको बता दें कि कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद देश भर में जहां ख़ुशी का माहौल है तो वहीं कुछ राजनीतिक पार्टियाँ इसका विरोध भी कर रहीं हैं।

संबंधित विषय