Advertisement

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए गए संजय निरुपम, लोकसभा चुनाव के लिए मिली मनचाही सीट

मुंबई कांग्रेस के जितने भी बड़े नेता था सभी निरुपम के खिलाफ थे। आरोप लगाया था कि निरुपम तानाशाही रवैया अपना रहे हैं साथ ही निरुपम पर अपने ही लोगों पर टिकट बांटने का भी आरोप लगाया गया। अंदरूनी मतभेद कई बार सतही स्तर पर भी देखने को मिली थी।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए गए संजय निरुपम, लोकसभा चुनाव के लिए मिली मनचाही सीट
SHARES

कांग्रेस नेता संजय निरुपम को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है साथ ही उत्तर-पश्चिम लोकसभा सीट से उनकी उम्मीदवारी भी तय कर दी गई है। निरुपम के बाद अब कांग्रेस नेता मुरली देवड़ा के बेटे मिलिंद देवड़ा को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया है। कांग्रेस ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

'मिली मनचाही सीट' 
मुंबई की नार्थ/वेस्ट सीट को लेकर कांग्रेस में भी काफी माथापच्ची चल रही थी। इस सीट पर काफी समय से सस्पेंस कायम था। इस सीट को लेकर कांग्रेस पर भी काफी दबाव था। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस ने सोमवार को लोकसभा चुनाव के 26 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की। इन लिस्ट में 25 नाम पश्चिम बंगाल के उम्मीदवारों के थे जबकि एकमात्र नाम मुंबई के नार्थ/वेस्ट सीट के लिए संजय निरुपम का नाम शामिल था। इसके पहले निरुपम को उत्तर मुंबई सीट से लड़ाने की चर्चा थी। इस सीट पर लड़ कर निरुपम हार भी चुके है, और यह सीट बीजेपी के लिए सेफ सीट भी मानी जा रही है। इसीलिए इस सीट से लड़ने के लिए निरूपम ने नाखुशी जताते हुए उत्तर/पश्चिम सीट से लड़ने की इच्छा जताई।

अंदरूनी गुटबाजी ले डूबी निरुपम को?
मुंबई कांग्रेस के जितने भी बड़े नेता था सभी निरुपम के खिलाफ थे। आरोप लगाया था कि निरुपम तानाशाही रवैया अपना रहे हैं साथ ही निरुपम पर अपने ही लोगों पर टिकट बांटने का भी आरोप लगाया गया। अंदरूनी मतभेद कई बार सतही स्तर पर भी देखने को मिली थी। यही नहीं पार्टी के बड़े नेताओं ने आला कमान से भी निरुपम की शिकायत कई बार की। आखिर निरुपम को इस पद से बेदखल कर मिलिंद देवड़ा को मुंबई की कमान सौंप दी गयी।

 
Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
Advertisement