नाले में गिरा बच्चा, एनसीपी की मांग- दोषी अधिकारी पर हो कार्रवाई

इस मामले में महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर ने कहा कि, जो हुआ उसका हमे दुःख है। इस मामले के जिम्मेदार अधिकारीयों को छोड़ा नहीं जाएगा, उन पर जरुर कार्रवाई की जाएगी।

SHARE

गोरेगांव के आंबेडकर नगर में तीन साल का मासूम बच्चा बहते हुए नाले में गिर पड़ा। बताया जाता है नाला खुला हुआ था। लगभग 20 घंटे बाद भी बच्चे का कोई अता-पता नहीं चला। दमकलकर्मी सहित NDRF के जवान बच्चे को ढूंढने में काफी मशक्कत कर रहे हैं लेकिन बच्चा नहीं मिल रहा है। अब इस मुद्दे पर एनसीपी प्रवक्ता नवाब मालिक ने मांग की है कि इसके जिम्मेदार म्युनिसिपल अधिकारी पर धारा 304 के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई होनी चाहिए।

घटना की जिमेदारी सरकार पर 

नवाब मलिक कहा कि गोरेगांव में एक खुले नाले में बच्चे का गिरना एक दुर्भाग्य घटना है। इसके पहले भी कई लोगों की इस तरह खुले नाले या मेनहोल में गिर कर मौत हो चुकी है। इस तरह के हादसों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। इस घटना के लिए किसी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है।

उन्होंने कहा बीएमसी ने इसके पहले मेनहोल को ढंकने के लिए प्लास्टिक के ढक्कन ख़रीदे थे लेकिन पानी में वे बह जाते थे। यह सब घटना बीएमसी की लापरवाही से हो रहा है। मलिक ने आगे कहा बार-बार होने वाली इस घटना की जिम्मेदारी सरकार को लेनी चाहिए।

'जरुर होगी कार्रवाई'

इस मामले में महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर ने कहा कि, जो हुआ उसका हमे दुःख है। इस मामले के जिम्मेदार अधिकारीयों को छोड़ा नहीं जाएगा, उन पर जरुर कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें: 2 साल का बच्चा मैनहोल में गिरा, सर्च ऑपरेशन जारी

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें