Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
51,38,973
Recovered:
44,69,425
Deaths:
76,398
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
45,534
1,794
Maharashtra
5,90,818
37,236

कांग्रेस की मांग पर अनिल देशमुख ने कहा- जांच कराएंगे सेलिब्रेटियों के ट्वीट्स

सोमवार को महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता सचिन सावंत (sachin sawant) ने ऑनलाइन एक zoom वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग किया, जिसमें अस्पताल में दाखिल होने के बावजूद अनिल देशमुख ने हिस्सा लिया।

कांग्रेस की मांग पर अनिल देशमुख ने कहा- जांच कराएंगे सेलिब्रेटियों के ट्वीट्स
SHARES

दिल्ली बॉर्डर (delhi border) पर हो रहे किसान आंदोलन (farmer protest) को लेकर अंतरराष्ट्रीय पॉप गायिका रिहाना (pop singer rihanna) के ट्वीट ने पूरे देश में हलचल मचा दी है। इसके बाद कुछ अन्य विदेशी सेलिब्रेटियों ने भी किसान आंदोलन के समर्थन में अपना ट्वीट किया। जिसके जवाब में भारत से भी कई सेलिब्रेटियों ने किसान आंदोलन में प्रोपेगैंडा फैलाने का आरोप लगाया और इसे भारत का आंतरिक मामला बताया। लेकिन विपक्ष ने भारत के सेलिब्रेटियों द्वारा किए गए ट्वीट पर आशंका जताते हुए आरोप लगाया कि, यह सभी ट्वीट केंद्र सरकार के दबाव के चलते किया गया है। अब राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख (anil deshmukh) ने इसकी जांच करने का निर्णय लिया है।

बता दें की रिहाना और अन्य सेलिब्रेटियों के ट्वीट के बाद बॉलीवुड से अक्षय कुमार, अजय देवगन, सुनील शेट्टी, करण जौहर, लता मंगेशकर सहित अन्य सेलेब और खेल जगत से सचिन तेंडुलकर, अनिल कुंबले, साइन नेहवाल सहित अन्य ने भी ट्वीट कर इसे भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाने का आरोप लगाया था।

सोमवार को महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता सचिन सावंत (sachin sawant) ने ऑनलाइन एक zoom वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग किया, जिसमें अस्पताल में दाखिल होने के बावजूद अनिल देशमुख ने हिस्सा लिया। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सचिन सावंत ने देशमुख से कहा कि, जितने भी सेलेब ने ट्वीट किया है, सभी के कंटेंट लगभग सेम ही है, और साइन नेहवाल और अक्षय कुमार के ट्वीट तो अक्षरश: सेम है। साथ ही सुनील शेट्टी ने जो ट्वीट किया है उसमें उन्होंने किसी हितेंद्र जैन (hitendra jain) को भी टैग किया है। सावंत ने बताया कि, यह हितेंद्र जैन BJP का नेता है।

सावंत ने इन सभी सेलेब के ट्वीट पर सवाल उठाया और गृह मंत्री से जांच की मांग की। सावंत ने केंद्र सरकार पर इन सभी सेलेब से दबाव में ट्वीट कराने का आरोप लगाया।

अनिल देशमुख ने कहा, "जिन लोगों को भारत रत्न (bharat ratn) से सम्मानित किया गया है, वे हम सभी के लिए सम्माननीय हैं। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने उन पर दबाव डाला है?" कांग्रेस पार्टी ने नेता की जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि, वह मशहूर हस्तियों के ट्वीट की जांच करेंगे और नियमों के अनुसार कार्रवाई करेंगे।

इस बीच, इस मुद्दे पर एमएनएस (mns) भी कूद पड़ी है। MNS अध्यक्ष राज ठाकरे (raj thackeray) ने कहा कि, भारत सरकार द्वारा देश के भारत रत्न को इस तरह से ट्वीट करने के लिए कहना गलत है। भारत सरकार को सिर्फ अपनी नीति के लिए भारत रत्न की छवि को धूमिल नहीं करना चाहिए। लता मंगेशकर (lata mangeshkar) और सचिन तेंदुलकर (sachin tendulkar) ये सभी सीधे सरल लोग हैं। भारत सरकार के कहने पर इन्होंने ट्वीट किया, लेकिन आज इन्हें सभी के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें