16 दिन के बाद खत्म हुआ मराठा आरक्षण के लिए उपोषण

पिछलें 16 दिनों से आजाद मैदान में सकल मराठा क्रांति मोर्चा के कुछ युवक अपोषण पर बैठे हुए थे।

SHARE

मराठा आरक्षण को लेकर पिछलें 16 दिनों से उपोषण पर बैठे सकल मराठा क्रांति मोर्चा के युवको ने शनिवार को राज्य जल संपदा मंत्री गिरिश महाजन की मध्यस्थ्ता के बाद उपोषण खत्म कर दिया। हालांकि, मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए आश्वासनों के अनुसार, राज्य सरकार ने अगले 10 दिनों में मराठा आंदोलकों की सभी मांगों को पूरा नहीं किया तो होनेवाले आंदोलन के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और गिरिश महाजन जिम्मेदार होगे।

 1 दिसंबर को जश्म मनाने का आवाहन 

आपको बता दे की राज्य पिछड़ा आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव के पास मराठा आरक्षण को लेकर की गई तैयार एक रिपोर्ट को सौपा है। इस रिपोर्ट में आयोग ने 45 हजार परिवार का अध्ययन किया है । 19 नवंबर से शुरु होनेवाले शीतकालिन अधिवेशन में इस रिपोर्ट को पेश किया जाएगा। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने पहले ही मराठा समाज के लोगों को 1 दिसंबर को जश्म मनाने का आवाहन कर दिया है।

आजाद मैदान सहित राज्य के सभी जिलों में जिलाधिकारी कार्यालय के सामने 2 नवंबर से अनिश्चित काल के लिए भूख हड़ताल पर थे। आरक्षण के साथ ही मराठा समुदाय के लोगों की मांग है की मराठा आंदोलन के दौरान 39 लोगों की जान गई उनके परिवार को 10 लाख की मदद की जाए और इसके साथ ही मराठा आंदोलनकारियों पर लगे गंभीर मामले वापस लिये जाए।

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री के खिलाफ लाएंगे विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव- राधाकृष्ण विखे-पाटील

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें