Advertisement

BMC चुनाव को देखते हुए मुंबई कांग्रेस जल्द चुनेगी अपना अध्यक्ष

बताया जा रहा है कि, मुंबई कांग्रेस को इस महीने के अंत तक नया प्रमुख मिलने की संभावना है।

BMC चुनाव को देखते हुए मुंबई कांग्रेस जल्द चुनेगी अपना अध्यक्ष
(Representational Image)
SHARES

मुंबई (Mumbai) में BMC चुनाव को अब 2 साल से भी कम समय बचा है। BMC चुनाव को मिनी-विधानसभा चुनाव के नाम से भी जाना जाता है। इसे देखते हुए कांग्रेस (Congress) ने जल्द जल्द अपने बिखरे कुनबे को समेटने में लग गई है और इसके लिए मुंबई कांग्रेस (mumbai congress) को उसका स्थाई मुखिया देने के लिए अंतिम तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि, मुंबई कांग्रेस को इस महीने के अंत तक नया प्रमुख मिलने की संभावना है।

कांग्रेस के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सुरेश शेट्टी और आरिफ नसीम खान, वरिष्ठ नेता भाई जगताप, चरण सिंह साप्रा, अमरजीत सिंह मन्हास जैसे नेता मुंबई कांग्रेस प्रमुख के पद की रेस में सबसे आगे हैं।

वर्तमान में मुंबई कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व वर्तमान में एकनाथ गायकवाड़ कर रहे हैं, जो मिलिंद देवड़ा केे पद छोड़ने के बाद कार्यवाहक अध्यक्ष बने थे। देवड़ा को पद से इस्तीफा दिए लगभग डेढ़ साल से अधिक समय बीत चुका है।

गुरुवार, 3 दिसंबर को, पार्टी के महाराष्ट्र प्रभारी, एच.के पाटिल ने पुष्टि की कि, मुंबई कांग्रेस प्रमुख को दिसंबर के अंत तक नियुक्त किया जाएगा और जनवरी में नागरिक चुनावों से संबंधित सभी आवश्यक निर्णय लिए जाएंगे, पार्टी को चुनाव मोड में डाल दिया जाएगा। 

HK पाटिल मुंबई कांग्रेस की नियुक्ति से पहले पिछले दो महीनों से मुंबई में कांग्रेस के प्रमुख नेताओं और पदाधिकारियों से मिल रहे हैं।

इससे स्पष्ट है कि, बीएमसी चुनाव (bmc election) जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, कांग्रेस इस साल चुनावों में अपनी छाप छोड़ने के लिए पूरी तरह तैयार है।

पाटिल ने गुरुवार को कांग्रेस और पार्टी के विधायकों से राज्य के मंत्रियों से मुलाकात भी की। उन्होंने कहा कि, मंत्रियों को आम लोगों को अधिक समय देने और उनके हित में अधिक आक्रामक तरीके से काम करने के लिए कहा गया है।

इसी बीच यह भी खबर है कि, MVA में शामिल पार्टियां BMC चुनाव एक साल लड़ने के मूड में नहीं हैं, क्योंकि इससे पहले, कांग्रेस के एक नेता रवि राजा (ravi raja) और मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम (sanjay nirupam) स्वतंत्र रूप से निकाय चुनाव लड़ने का बयान दे चुके हैं।

Read this story in English
संबंधित विषय