शिवसेना ने भरी हुंकार, 48 सीटों पर लड़ेंगे अकेले


SHARE

आने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अब सभी पार्टियों ने अपने अपने कार्यकर्ताओं में दम भरना शुरू कर दिया है। सोमवार को जहां एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने अपने कार्यकर्ताओं ने हिम्मत भरा तो मंगलवार को शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी कार्यकर्ताओं को अकेले दम पर लड़ने का हौसला बनाए रखने को कहा। यानी एक बात और साफ़ हो गयी कि शिवसेना और बीजेपी के गठबंधन करने की कोई भी गुंजाईश दूर-दूर तक नजर नहीं आ रही है।

'एकला चलो'
मंगलवार को उद्धव ठाकरे ने अपने पार्टी के सभी सांसदों, विधायकों, नगरसेवकों और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक का आयोजन कर आने वाले चुनाव की रुपरेखा तय की। शिवसेना भवन में हुई इस बैठक में उद्धव ने अपने कार्यकर्ताओं से आने वाले चुनाव के लिए अकेले लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार रहने को कहा। उद्धव ने कार्यकर्ताओं में दम भरते हुए जीत के प्रति जी-जान से जुटने का आदेश दिया साथ ही लोकसभा की 48 सीटों पर अकेले लड़ने का भी ऐलान किया।


गणेशोत्सव के पहले उम्मीदवारी होगी घोषित?
इस बैठक में उपस्थित सूत्रों ने बताया कि शिवसेना बीजेपी के बड़े नेताओं के खिलाफ अपने दिग्गज चेहरों को उतारेगी। शिवसेना विद्यमान सांसदों को मौका तो देगी ही साथ ही नए चेहरों में नीलम गोर्हे, शुभा राउल, विश्वनाथ महाडेश्वर के नाम पर भी चर्चा कर सकती है? हालांकि अभी इन नामों की पुष्टि को कोई खबर नहीं है। लेकिन बताया जा रहा है कि गणेशोत्सव के पहले पहले शिवसेना लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारी घोषित कर सकती है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें