नहीं काम आई अमित शाह-उद्धव ठाकरे की मुलाकात,शिवसेना ने फिर किया 2019 अकेले चुनाव लड़ने का फैसला!

सामना में छपी खबर के अनुसार उद्धव ठाकरे ने अमित शाह से मुलाकात के बाद भी चुनाव अकेले लड़ने का ही फैसला किया है।

SHARE

महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला है। अभी कुछ दिनों पहले ही बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत शिवसेना पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी, जिसके बाद ये कयास लगाए जा रहे थे की शायद अमित शाह से मुलाकाचत के बाद शिवसेना का रुख कुछ नर्म हुआ हो, लेकिन सामना में छपे एक लेख के बाद अब ये साफ हो गई है की शिवसेना 2019 में अकेले ही चुनाव लड़ेगी।

यह भी पढ़े- लवाटे दंपति ने वापस ली इच्छामृत्यु की अर्जी

शिवसेना ने कहा है कि वह महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़ेगी और सरकार बनाएगी। साथ ही यह भी कहा है कि 2014 की राजनीतिक दुर्घटना 2019 में नहीं होगी। संपादकीय में शिवसेना ने कहा है, ‘’साल 2014 की राजनीतिक दुर्घटना 2019 में नहीं होगी, सत्ता का उन्माद हम पर कभी चढ़ा नहीं और आगे भी नहीं चढने देंगे, देश में आज आपातकाल पूर्व परिस्थिति है क्या? ऐसे सवाल उपस्थित किए जा रहे हैं. कश्मीर में जवानों की हत्या जारी है. बहुमत से चुनकर दी गई सरकार का गला राजधानी दिल्ली में ही कसा जा रहा है. नौकरशाहों का ऐसा रवैया रहा तो चुनाव लड़ना और राज्य चलाना मुश्किल हो जाएगा.’’।

क्या थी साल 2014 की स्थिती
साल 2014 के विधानसभा चुनाव में 288 सीटों में से बीजेपी ने 122, शिवसेना ने 60, कांग्रेस ने 42, एनसीपी ने 41 सीटें जीती थीं। हालांकी विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना अलग अलग लड़ी थी। हालांकि बाद में बीजेपी ने शिवसेना से गठबंधन करके राज्य में अपनी सरकार बना ली थी। आपको बता दे की साल 2014 में ही बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ा था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें