कास्टलेस समाज की मांग

 Mumbai
कास्टलेस समाज की मांग

मुंबई - भारतीय लोकसत्ताक संगठन संस्था के अंतर्गत युवकों ने एकत्र होकर डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के विचारों को आगे बढ़ाने के लिए हस्ताक्षर मुहिम शुरु किया। चलते-फिरते न्यायालय और कास्टलेस समाज के लिए सरकार को प्रयास करना चाहिए, ऐसे संस्था की मांग है। देश में कैशलेस की बात हो रही है लेकिन कास्टलेस देश के लिए प्रयत्न नहीं किया जा रहा है। जिसके लिए सरकार को ठोस भूमिका निभानी होगी। भारत की न्यायिक प्रक्रिया को तेज करने के लिए डॉ. आंबेडकर ने फिरते न्यायालय की मांग की थी जिसकी आज बहुत जरूरत है।1950 में डॉ आंबेडकर ने नदी जोड़ों प्रकल्प की कल्पना की थी जिससे सूखे की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाए। जिसकी नितांत आवश्यकता है। इन सब मांगों को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। 50 हजार लोगों ने इस मुहिम में हस्ताक्षर कर अपनी सहमति जताई। संस्था का दावा है कि अगर इस मांग को केंद्र और राज्य सरकार ने पूर्ण कर दिया तो भारत का विकास होने के साथ ही न्यायिक प्रक्रिया सरल हो जाएगी।

Loading Comments