भंगार की दुकान में मिली मशहुर कवि साहिर लुधियानवी की रचनाएं

गैर लाभकारी संगठन ने इन चीजों का संरक्षण करने के लिए इन्हें महज 3,000 रूपये में खरीदा है।

SHARE

प्रसिद्ध उर्दू कवि-गीतकार साहिर लुधियानवी की कई बेशकीमती हस्तलिखित पत्र, डायरियाँ, नज़्म, और तस्वीरें मुंबई के एक स्क्रेप शॉप में मिली।  एक गैर लाभकारी संगठन ने इन चीजों का संरक्षण करने के लिए इन्हें महज 3,000 रूपये में खरीदा है।गैर लाभकारी संगठन फिल्म हेरीटेज फाउंडेशन को हाल ही में जुहू में कबाड़ की एक दुकान में अखबारों और पत्रिकाओं की ढेर में ये चीजें मिलीं और अब उसकी योजना उनके संरक्षण और 'अभिलेखों की प्रदर्शन की है।


गाने की रिकार्डिंग भी शामिल

एनजीओ के संस्थापक निदेशक शिवेंद्र सिंह डुंगरपुर ने कहा, ' इन डायरियों में उनके रोजाना के कार्यक्रम जैसे गाने की रिकार्डिंग के लिए वे कहां जाएंगे और अन्य निजी बातें लिखी हुई हैं। कई नज्में और नोट भी हैं। इन नोटों का संबंध उनके प्रकाशन संबंधी पर्चियों है। उस दौर के संगीतकार रवि, उनके दोस्त और कवि हरबंस द्वारा उन्हें लिखी गई चिट्ठियां भी हैं। कुछ अंग्रेजी तो कुछ उर्दू में लिखे गए हैं।इसके साथ  साहिर लुधियानवी की कुछ पूरानी तस्वीरें भी इस भंगार की दुकान में मिली


फाउंडेशन के विशेषज्ञ उन नज्मों का अध्ययन कर रहे हैं और यह पता लगा रहे हैं कि उनमें से कौन प्रकाशित नहीं हुईं।गौरतलब है कि ऐसी खबरें आ चुकी हैं कि संजय लीला भंसाली साहिर लुधियानवी की बायोपिक बनाने वाले है। कास्ट के बारे में बताया जा रहा है कि फिल्म में अभिषेक बच्चन साहिर का किरदार निभाएंगे। वहीं, अमृता प्रीतम के रोल में तापसी पन्नू नजर आएंगी।

यह भी पढ़े- Mount Mary Fair-माउंट मैरी फेयर शुरु, बेस्ट चला रही है अतिरिक्त बसें

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें