Advertisement

गांव से मुंबई लौट रहे लोग, पुष्पक सहित इन ट्रेनों में बढ़ी वेटिंग लिस्ट


गांव से मुंबई लौट रहे लोग, पुष्पक सहित इन ट्रेनों में बढ़ी वेटिंग लिस्ट
SHARES
Advertisement

लॉकडाउन (lockdown) के चलते जो प्रवासी मजदूर (migrant labours) मुंबई या महाराष्ट्र के अन्य शहरों से अपने गांव चले गए थे वे अब काम के सिलसिले में वापस लौट रहे हैं। उन्हें कोरोना (Covid-19) के डर के आगे भूख का डर अधिक सता रहा है। जो ट्रेनें पहले यूपी, बिहार, झारखंड, उड़ीसा और पंजाब, बंगाल से खाली लौट रही थी अब वे भरी आ रही है। इतनी कि वेटिंग टिकट भी नही मिल रहा है।

हिंदी समाचार पत्र दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक 1 जून से ट्रेनों का संचालन सीमित ढंग से शुरू होने पर प्रवासियों का रुख अब फिर से मुंबई या महाराष्ट्र के अन्य शहरों की तरफ दिखने लगा है।

लखनऊ से मुंबई आने वाली पुष्पक एक्सप्रेस ट्रेन में स्लीपर और एसी क्लास के लिए सीट फुल हो गई है। आरक्षित सीट नहीं मिलने पर लोग चालू डिब्बे में भी बैठकर आने को तैयार हैं। बात सिर्फ पुष्पक की है नहीं है, अब लखनऊ से मुंबई या गुजरात जाने वाली सभी ट्रेनों में सीटें खाली नहीं हैं।

रेलवे ने लॉकडाउन के कारण ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया था। एक मई से शुरू हुई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से प्रवासी महाराष्ट्र, गुजरात, दक्षिण, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली से यूपी-बिहार-झारखंड अपने गांव चले गए थे। वहीं रेलवे ने जब एक जून से पुष्पक एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों को स्पेशल के रूप में चलाया तब इन ट्रेनों को यात्री नहीं मिल रहे थे। लेकिन पिछले एक हफ्ते से तस्वीर पूरी तरह से बदली नजर आ रही है।


रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले करीब एक सप्ताह से महाराष्ट्र व गुजरात जाने वाली ट्रेनों में वेटिंग तेजी से बढ़ी है। जनरल बोगियों में भी रेलवे 15 रुपये प्रति यात्री रिजर्वेशन चार्ज लगाकर हर सीट का आरक्षण कर रहा है। मुंबई की ट्रेनों में वेटिंग 39 से 45 तक पहुंच गई है। लखनऊ मेल की सेकेंड सीटिंग क्लास और स्लीपर में दो जुलाई तक वेटिंग है।

हिंदी पेपर के मुताबिक गुजरात के कई शहरों को जोडऩे वाली साबरमती एक्सप्रेस स्पेशल का हाल भी पुष्पक एक्सप्रेस की तरह है। इस ट्रेन में सेकेंड सीटिंग क्लास की वेटिंग 44 तक है। जबकि स्लीपर में 76 और एसी 3 में वेटिंग 14 तक पहुंच गई है। 

इन ट्रेनों में है इतनी वेटिंग

 ट्रेन  :         स्लीपर  एसी 3  एसी 2

अवध एक्सप्रेस  117   23     11

पुष्पक एक्सप्रेस 146    22     8

अवध एक्सप्रेस 172   35      8

गोरखपुर एलटीटी सुपरफास्ट 146 23 5

कुशीनगर एक्सप्रेस 78  18  4

कोलकाता-अमृतसर 103 43   21

शहीद एक्सप्रेस  99  35   17

संबंधित विषय
Advertisement