रेलवे अधिकारी कर रहे हैं काले धन को सफ़ेद - डॉ.वाघमारे

मुंबई - नोटबंदी निर्णय के बाद कितने लोगों का काला पैसा बाहर आया। आयकर विभाग और पुलिस के द्वारा देश भर में छापेमारी कार्रवाई के दौरान कितने लोग अपने काले धन को सफ़ेद करने की जुगत में लग गए हैं। इसका एक उदाहरण सामने आया है। कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. राजू वाघमारे के पास एक पत्र हैं इस पत्र के जरिये उन्होंने दावा किया है कि मुंबई में सेन्ट्रल रेलवे के कुछ कर्मचारियों और अधिकारियों द्वारा बड़े पैमाने पर काले धन को सफ़ेद करने का काम किया गया है।

उन्होंने एक पत्र दिखाते हुए कहा कि यह पत्र रेलवे विजिलेंस विभाग के एसडीजीएम आशुतोष गांगल का है जिन्होंने काले धन को लेकर संबंधित विभाग को एक पत्र लिखा है। पत्र के हवाले से डॉ. वाघमारे ने दावा किया है कि पीआरएस, बुकिंग विभाग, पार्सल विभाग और कैश विभाग ने पुराने नोटों के संबंध में उचित जानकारी नहीं रखी है, जिसका फायदा उठाते हुए कुछ सेन्ट्रल रेलवे के कर्मचारी और अधिकारियों ने बहुत बार अवैध तरीके से नोटों को बदलने का काम किया। और ऐसे भ्रष्ट लोगों पर सरकार कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है। वाघमारे ने आगे कहा कि गांगल ने यह पत्र मुंबई, पुणे, भुसावल, सूरत और नागपुर ज़ोन के डीआरएम को भी लिखा है। इससे यह मालुम होता है कि बड़े पैमाने पर काले पैसों को सफ़ेद किया गया है। जब इस संदर्भ में रेलवे के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

Loading Comments