फिल्‍म संगीतकार खय्याम की तबियत बिगड़ी, ICU में हो रहा इलाज

संगीत नाटक अकादमी पुरस्‍कार और पद्म भूषण से नवाजे गए खय्याम ने बॉलीवुड को 'कभी-कभी' और उमराव जान के गाने देकर बॉलीवुड में एक खास जगह बनाई है।

SHARE

फिल्म इंडस्ट्री को कई मशहूर गीत देने वाले दिग्‍गज फिल्‍म संगीतकार मोहम्‍मद जहूर 'खय्याम' हाशमी (92) की तबियत गंभीर हो गयी है। उन्हें सुजय अस्‍पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया हैं। उनके फेफड़े में संक्रमण हो गया है। संगीत नाटक अकादमी पुरस्‍कार और पद्म भूषण से नवाजे गए खय्याम ने बॉलीवुड को 'कभी-कभी' और उमराव जान के गाने देकर बॉलीवुड में एक खास जगह बनाई है।

फुटपाथ  से बॉलीवुड में शुरुआत 
बताया जाता है कि 'खय्याम' मात्र 17 बरस की उम्र में पंजाब के लुधियाना शहर से 1943 में म्‍यूजिक की दुनिया में सफर शुरू साल 1953 में फुटपाथ फिल्म से उन्होंने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की और उसके बाद अनगिनत बॉलीवुड फिल्‍मों और गानों का संगीत दिया। 

कई अवार्ड किये हैं नाम
यही नहीं 'नूरी', 'रजिया सुल्‍तान', 'बाजार' जैसी ब्लॉक बस्टर फिल्‍मों का संगीत भी खय्याम ने तैयार किया था। उनके योगदान के लिए उन्हें साल 2010 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड दिया गया। इसके अलावा उन्हें फिल्‍म फेयर पुरस्‍कार और राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार से भी नवाजा गया है। कुछ वक्‍त पहले पुलवामा हमले के दौरान उन्‍होंने शहीदों के परिवारों की मदद के लिए पांच लाख रुपये दिए थे।

संबंधित विषय